मोहल्ले की चाची की गांड फाड़ी

5 min read

विक्रांत ठाकुर
यह गाँव की एक Chachi Ki Desi Sex Kahani है, मेरा नाम सचिन है। मेरी उम्र 22 साल है.. मैं हिमाचल के एक गाँव में रहता हूँ। मेरी हाईट 6 फिट है.. और मेरा लंड काफी लम्बा और मोटा है।

मेरे घर के पास थोड़ी दूरी पर एक औरत रहती है.. उसे सब लोग चाची कहते थे। वो 5 फिट 8 इंच हाईट की एक मदमस्त 36-32-36 के फिगर वाली माल जैसी औरत है। उसकी मोटी गांड को देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था। चाची मेरी तरह के लम्बे लंड की दीवानी है.. ये बात बाद में मुझे मालूम हुई थी।

यह कहानी तब की है.. जब मैंने नई-नई जॉब शुरू की थी। मेरी जॉब चंडीगढ़ में थी, उधर मैं किराए पर कमरा लेकर रहता था।

मैं जब भी गांव जाता तो उससे मिलने उसके घर भी चला जाता था, उससे थोड़ी बहुत बात करता था। कभी-कभी उससे फ़ोन पर भी बात होती थी। उसका पति 7 बजे काम पर जाता था और 7 बजे शाम को वापिस आता।

रविवार को मैं फ्री होता हूँ तो एक रविवार को मैंने चाची को मैसेज कर दिया कि मैं तुमसे प्यार करता हूँ।

करीब एक घंटे बाद उसने मुझे कॉल की.. पहले तो मेरी फट रही थी.. पर हिम्मत करके मैंने कॉल उठाई।

तो उसने मुझे झाड़ना शुरू कर दिया, वो बोली- मैं तुम्हें अच्छा लड़का समझती थी.. मैं तुम्हारी माँ को बताऊँगी।
इतना कह कर फ़ोन काट दिया।

अब मेरी और ज्यादा फट रही थी कि अब मेरी बैंड बजने वाली है, मैंने उसे दुबारा मैसेज किया- आई एम सॉरी।

उसने दूसरे दिन सुबह 8 बजे मुझे फिर कॉल किया- तू घर कब आ रहा है?
एक सप्ताह बाद मेरी छुट्टी थी तो मैंने उसको बता दिया कि मैं अगले हफ्ते आ रहा हूँ।
उसने मुझे घर आकर माफ़ी मांगने को कहा।

मेरी डर के मारे गांड फट रही थी। हालांकि मैं उसके बारे में जानता था कि वो किसी और से भी चुदवाती है.. पर मैंने उसको कुछ नहीं कहा।

तीन दिन बाद बड़ी हिम्मत जुटा कर मैं उसके घर गया। उस समय उसका बेटा और चाची ही घर पर थी। थोड़ी देर इसे ही बात हुई। उसने मुझे चाय पिलाई। फिर उसका बेटा क्रिकेट खेलने गाँव की बस्ती में चला गया.. तो मैं और चाची अकेले रह गए।

चाची ने मुझे डांटना शुरू किया- मैसेज में क्या भेजा था.. तू मेरे बच्चे की तरह है।
वो मुझे डांटते हुए हँस भी रही थी, वो बोले जा रही थी.. तो मैंने उठ कर उसे किस कर दिया.. जिससे उसके होंठ बंद हो गए।
मैंने उसे 5 मिनट तक किस किया.. तो उसने भी किस करना चालू कर दिया।

अब मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैंने उसके मम्मे दबाना शुरू कर दिए।

वो गाँव की है तो मेहनत का काफ़ी काम करने की वजह से उसकी बॉडी एकदम फिट थी और मम्मे भी टाइट थे जिनको दबाने में मुझे खूब मजा आ रहा था।

कुछ देर बाद मैंने उसकी चूत पर हाथ फिराना शुरू किया। उसने पैन्टी नहीं पहनी थी और उसकी चूत एकदम गीली थी। चूत पर हाथ फेरने से वो एकदम गर्म हो गई.. उसने अपने कपड़े खुद ही उतार दिए, बोली- जल्दी से लंड डाल दे.. नहीं तो कोई आ जाएगा।

उसका घर बिल्कुल सड़क के पास था। इसलिए वो डर रही थी। मैंने भी झट से लोअर उतारा तो मेरा लंड हवा में उछल कर बाहर आ गया।

वो मेरा मूसल लंड देख कर बोली- अरे वाह.. तू तो पूरा मर्द हो गया है।

अब वो चित्त लेट कर जल्दी से चुदाई करने को कहने लगी। मैंने लंड उसकी फुद्दी पर रखा और धक्का मार दिया।

मेरा लंड आधा उसकी चूत में घुसता हुआ अन्दर तक चला गया। उसकी फुद्दी ज्यादा नहीं खुली थी तो उसे दर्द हो रहा था। दूसरे धक्के में मैंने पूरा लंड अन्दर कर दिया।

अब वो हल्के से चिल्लाई.. तो मैंने उसे चूमना चालू कर दिया। इसके बाद जब लंड से चूत की दोस्ती हो गई तो मैंने उसे हचक कर देर तक चोदा।

मेरी चुदाई के दौरान ही वो दो बार झड़ चुकी थी। इसके बाद मैंने भी अपना माल उसकी चूत में ही डाल दिया और जल्दी से लंड साफ़ करके वापिस आ गया।

दूसरे दिन उसने मुझे फिर कॉल की और बोली- घर में कोई नहीं है.. आ जा!
मैं कुछ देर बाद उसके घर गया, उस समय वो खाना बना रही थी।

मैंने उसे गोद में उठाया और कमरे में ले गया। वहाँ उसे बिस्तर पर गिरा कर चूमना चालू किया। उसके सारे कपड़े निकाल दिए। वो फिर जल्दी चुदाई करने को बोलने लगी।

वो अपने पूरे कपड़े उतार कर मेरे सामने अपनी चूत खोल कर लेट गई।

मैंने उसे उल्टा किया और बोला- आज गांड मारनी है।
वो मना करने लगी और बोली- आज तक किसी से मैंने गांड नहीं मरवाई है।

मैंने उसे उल्टा लिटाया और उसके बाजू एक दुपट्टे से बांध दिए और गांड के छेद में थूक लगाकर उंगली डाल दी।

वो चिल्लाने लगी और मना करने लगी। मैंने जल्दी से अपना लंड निकाला और थूक लगाया। फिर उसके गांड पर रखकर जोर से धक्का दिया.. तो जोर से चिल्लाई।

मैंने बिना सुने दूसरा धक्का लगा दिया तो लंड उसकी गांड में घुस गया। वो मेरे को गालियाँ देने लगी.. पर मैं उसको नहीं सुन रहा था और जबरदस्ती चोद रहा था। कुछ मिनट बाद मेरे माल से उसकी गांड भर गई।

फिर मैंने लंड साफ़ किया और उसके हाथ खोल दिए। वो रो रही थी.. और बोली- आज के बाद मत आना।

मैं हँसता हुआ चला गया। मुझे मालूम था कि ये साली मेरे लंड से चुदने के लिए मुझे फिर से बुलाएगी।

वही हुआ.. फिर 2 दिन बाद फिर उसकी कॉल आई। उसके बाद जो हुआ वो एक मजेदार वाकिया था।

आप बताइए आपको Chachi Ki Desi Sex Kahani कैसी लगी।
[email protected]

Written by

विक्रांत ठाकुर

Leave a Reply