अप्रैल 2015 की लोकप्रिय कहानियाँ

5 min read

Chut Ka Interview 1

Hello dosto mai Ishika hoon…

Mera figure “36-24-36” hai…

Ab mai seedha aapko apne kahani mai le jati hoon.

Baat tab ki hai jab main apna MBA ka course khatam kar ke job dhundne ke liye nikali thi.

Maine apna MBA “Finance aur Accounting” me kiya hai aur bade hi ache marks se graduate hui thi.

Mere saare ghar wale mujhse bade hi khush the!!!

Mai ek mahenati ladki hoon. Hamesha hi hasmuk rehti thi. Aur life me kuch banana chahti ho.

Par shyayad kismet ko yeh manzoor nahi tha!! !!!

College mai bhi kai ladke mujhpe line maarte the par maine unpe dhyan nahi deti thi.

Aisa nahi ki meri Chut pani nahi chodti thi ya mujhe sex ka maan nahi hota tha mai bhi ek “Aam-Ladki” thi par mujhe apna career banana tha, Mujhe pata tha ek baar acha career ban gaya to LAUDE to mil hi jayenge…

In the mean time mai Porn Sites se videos download karke ya MSS jaise sites se stories padh kar muth mar leti thi.

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

आँखों के सामने चुदी मेरी माँ

हमारा घर दो मंज़िला है और दूसरी मंज़िल की सीडियाँ घर के बाहर से हैं…

शायद मम्मी ने जानभूझ कर बनवाई हैं; जिससे दीदी यहाँ आएँ तो आराम से ऊपर चुदती रहें और जीजू को पता भी नहीं चले… …

खैर, मैं जैसे ही गेट खोल कर बाहर निकल रही थी, मुझे एकदम से किसी के मोबाइल बजने की आवाज़ कानों में आई, बस एक ही पल के लिए!!

पर यह तय था कि आवाज़ ऊपर से ही आई है, मुझे लगा ऊपर कौन है… ??

एक अंजान डर से मैं दबे पाँव ऊपर चढ़ने लगी, बहुत सावधानी से… …

जैसी ही मैं ऊपर पहुँची मेरी साँसें रुक गईं और दिल धक से रह गया, हवा से परदा हिल रहा था और बिल्कुल सामने डबल बेड पर मेरी माँ किसी और मर्द से टाँगें खोल कर चुद रही थीं!!! !!

मैं चिल्लाना चाहती थी पर मेरे मुँह से आवाज़ ही नहीं निकली और मैं चुपचाप खड़ी रही… …

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

मज़बूरी या मज़ा 1

पिछले कुछ दिनों में मैंने यहाँ बहुत सारी स्टोरी पढ़ी हैं, काफ़ी अच्छी भी लगीं…

खास बात यह लगी की यह साइट अपनी दिल की बात कहने का सर्वोत्तम माध्यम है!!

काफ़ी दिनों से मैं भी सोच रही थी की मैं भी अपनी “दिल की दास्तान” आप से शेयर करूँ पर दिल में ना जाने क्यूँ एक अंजान डर बैठा था… आख़िरकार, आज हिम्मत हो ही गई… …

तो मित्रो, ये “दास्तान” आज से लगभग दो साल पहले की है।

दोस्तो, मैं एक ‘विडो’ हूँ और मेरे पति की डेथ 2।5 साल पहले हुई थी।

मेरी दो लड़कियां है। एक 10 और एक 7 साल की। जब उनकी डेथ हुई तो मैं एक साधारण हाउसवाइफ थी और घर खर्च का सारा बोझ उन्हीं पर था।

उनकी अचानक डेथ से घर का सब लोड मुझ पर आ गया।

कुछ दिन तो सरलता से कट गये और 2 महीने होते होते मैं एक जॉब पर लग गई। सैलरी कुछ ख़ास नहीं थी पर जैसे तैसे घर का गुज़ारा कर लेती थी।

हमारे घर में हम चार लोग रहते थे। मैं, मेरी दो लड़कियां और मेरी सास।

मेरी सास भी ‘विडो’ थीं। उनके लिए भी मैं ही एक सहारा थी…

इनकी मृत्यु के बाद मैं अब उनके लिए उनकी बेटी जैसी हो गई थी!! मेरी सास दुनिया के विपरीत, मुझसे बहुत प्यार करती थीं।

मेरे ससुर की भी डेथ जवानी मैं ही हुई थी और मेरी सास ने ही मेरे पति को पढ़ाया और उनकी परवरिश की थी।

वो बखूबी समझती थीं की मुझ पर क्या गुजरती थी…

खैर, अब स्टोरी पर आती हूँ…

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

Jungle Me Mila Sher Ka Lund 1

Jab bhi main bahar nikalti hoon Heels hi pehanti hoon chahe Jeans ho ya Salwaar aur shart laga sakti hoon meri “Cat-Walk” par ek adh Ladka to apni underwear Gandi kar hi deta hoga… … …

Aisi to meri CHUT me badi “Chudaas” hai par main “Pro” nahi hoon…

Waise is city me ye sab bada common hai kyunki yanha pata nahi kitne Colleges hain aur jyadatar Ladkiyan outsiders hi hain aur meri bhi lagbhag saari College aur Hostel Friends occasionally rate par jati rehti hain but mujhe “Dominate” hona pasand nahi isliye main prefer nahi karti… …

Mujhe Chudai ke liye paisa nahi balki banda “Hatta Katta” chahiye, LUND kam se kam “6 7 Inch” ka ho aur atleast ek baar mera Paani chuda de, tu main to khud usey pay kar doon…

Yaar, bas aise Chode ki “Mazaaa aaa” aa jaye!!!

Paisa to ata jata rahega, Jaawani thodi na lautegi… …

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

सहेली थी रांड मार गई गाण्ड 1

मैं जवानी से ही अपनी चुचियों और गाण्ड की “सरसों के तेल” से रोज़ाना मालिश करती हूँ, जिससे मेरी चुचियाँ और गाण्ड एकदम कसी हुई और सुडौल हैं!!! !!

इसके साथ ही हफ्ते में एक बार मैं अपनी चुचियों और गाण्ड पर “फेस पेक” भी लगती हूँ और अक्सर अपनी गाण्ड पर “स्क्रब” भी करती हूँ, जिससे मेरी चुचियाँ और गाण्ड बेहद नरम और मुलायम हैं और साथ में चमकदार भी!!! !!

शादी से पहले मेरी एक सहेली थी “शशि” जिसने मुझे यह सब राय दी थी…

उस वक़्त वो “ब्यूटीशियन” का कोर्स कर रही थी!!

शशि, मेरी सहेली भी थी और साथ ही विमल की चचेरी बहन भी थी…

शशि की शादी आज से दो साल पहले “अविनाश” से हुई थी।

अविनाश भी “टूरिंग जॉब” पर था।

शशि, शुरू से ही एक “चालू लड़की” थी, जिसका कई लड़कों के साथ अफेयर चलता था!!!

कई बार अच्छा “मुर्गा” फंसने पर वो “वैश्या वृति” करने से भी नहीं हिचकिचाती थी!!! !!

शादी के बाद उसका ससुराल देल्ही में था, लेकिन अब उसके पति का ट्रान्स्फर हमारे शहर यानी गुड़गांव में हो गया था।

उस दिन अचानक मुझे शशि का फोन आया… …

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply