फरवरी 2015 की लोकप्रिय कहानियाँ

4 min read

तबाड़-तोड़ पलंग तोड़ चुदाई

ये कहानी आज से 6 साल पहले की है, मैं 21 साल का होने वाला था और मेरा बर्थडे नजदीक था, मैं अपने बर्थडे पर आउटिंग का प्लान कर रहा था।

मेरे मकान के पास में एक गर्ल्स हॉस्टल चलता था। मैं रोज़ सुबह एक्सरसाइज करने छत पर जाता था, जब मैं छत पर गया तो सामने की खुली खिड़की पर मेरी नज़र पड़ी।

वहाँ एक लड़की (स्नेहा) थी, जिसके बाल गीले थे और वो अपने बाल मुँह के आगे लेकर तौलिये से सूखा रही थी, मेरी नज़र उसकी खिड़की पर टिक गई, ताकि उसकी शक्ल देख सकूँ।

यूँ तो पहले भी मैं अपनी गर्ल-फ्रेंड्स के साथ चुम्मा-चाटी कर चूका हूँ पर अब तक सेक्स का मौका नहीं मिला।

उसने जैसे ही बाल को झटक के पीछे किया, मैं तो उसकी तरफ देखता ही रह गया और उसकी छाती (बूब्स) के तो क्या कहने।

मेरे अंदाज़े से 34 से कम तो नहीं होंगे।

दोस्तो, जाने कहाँ से हिम्मत जुटा के मैंने उसे इशारा किया पर उसने मुझे बुरी तरह से घूर के देखा और दूसरी तरफ चली गई।

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

Naa Chahte Hue Maine Dekhi Apni Mummy Ki Chudai 1

Mere ghar me 3 log hai Mai aur Papa-Mummy.

Meri Mummy ka naam Vandana hai. Vo dekhne me bahut hi sundar hai. Meri Mummy bahut gori hai aur unka figure bahut acha hai.

Hum log middle class family se hai, so rahne me meri Mummy bahut hi simple hai. Vo ghar me nighty aur bahar saree ya salwar-suit hi pahenti hai. Meri Mummy ke blouse se unki boobs bahar dikhte rahti hai.

Haan, toh mai ab meri kahani par aata hu…

Ye kahani tab ki hai jab papa project ke kaam se bahar gaye hue the aur mai meri didi aur meri Mummy ghar me the.

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

सामूहिक चूत चुदाई का आनंद 1

जवानी का नशा और वासना की आग अब अपना नंगा-नाच नाच रही थी और एक ही बेड पर सब नंगे हो चुके थे और चुदाई का सफ़र शुरू होने वाला था।

दोस्तो, अपनी कल्पना के घोड़ों को दौड़ाइए और सोचिए एक ही कमरे में चार जवान नंगे बदन, दो बला की खूबसूरत लड़कियाँ एकदम नंगी, जिनकी चूत में आग लगी हो बस अपने अंदर लण्ड लेने की…

यक़ीनन, क्या दृश्य होगा वो…

चुदाई के इस सफ़र पर हम और आप दोनों साथ चलेंगे… …

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

गुलाबी चूत और गोल-गोल चूचियाँ 1

मैं उस वक्त इंजिनियरिंग के पहले साल में था और मेरे मैथ्स के ट्यूशन टीचर मारवाड़ी थे।

मैं रोज़ उनके घर पर ट्यूशन पढ़ने जाता था। उनकी उम्र करीब 35 साल की थी। वो अपनी बीवी के साथ रहते थे और उनका एक लड़का था जो की हॉस्टल में रहकर पढ़ाई कर रहा था। उसे अब तक किसी ने देखा नहीं था।

उनकी बीवी की उम्र शायद 28-30 की होगी। लेकिन वो अपनी उम्र से काफ़ी छोटी दिखती थीं!!

जब भी मैं उनके घर जाता था तो वो मेरा बहुत ख्याल रखती थीं। मेरे दिल में भी उनके लिए बहुत इज़्ज़त थी…

लेकिन एक दिन मैंने उन्हें नहाने के बाद सिर्फ़ पेटिकोट में देखा जो की उनकी चूचियों पर बँधा हुआ था। उनके गोरे पैर और पिंडलियाँ खुली थीं… उफ़!! कितने गोरे पैर थे उनके और उनकी वो अधनंगी चूचियों को तो मैं बस देखता ही रह गया!!! !!

लेकिन तभी, उन्होंने मुझे देखते हुए देख लिया। वो थोड़ा मुस्कुराईं और अंदर चली गईं… …

मेरा मन अब पढ़ाई में नहीं लग रहा था और मेरा लण्ड कड़क होने लगा था!!

किसी तरह मैं उसे दबा रहा था। आख़िरकार सर ने पूछा…

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

लीना की चूत की लीला 1

बात पिछले महीने की है…

मैं ऑफिस के काम से दो दिनों के लिये दिल्ली गया था। पहले दिन मैं ऑफिस के काम में व्यस्त रहा। दूसरे दिन ऑफिस का काम खत्म कर, शाम को मैं एक दोस्त के यहाँ चला गया, जो मायापुरी (दिल्ली) में रहता है।

रात का खाना मैंने वहीं खाया। बात करते हुये रात के 11 बज गये तो मैंने अपने दोस्त से वापस होटल जाने की इजाजत माँगी और उसके घर से निकल गया।

बाहर सड़क पर आकर मैं किसी टैक्सी या बस का इंतजार करने लगा। थोड़ी देर बाद मेरे सामने एक लाल रंग की कार आकर रूकी…

मैंने कार की तरफ देखा, तभी कार का शीशा नीचे हुआ। अंदर एक औरत बैठी थीं!! उसने मुझे इशारे से पास बुलाया। मैं गाड़ी के पास गया और उसके कुछ पूछने की प्रतीक्षा करने लगा…

तभी वो बोली – कितना लेते हो… ??

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply