मार्च 2015 की लोकप्रिय कहानियाँ

5 min read

सगी बहनों ने बनाया बहन-चोद 1

मैं मेरे जीवन की सच्ची घटना के बारे में आपको बताना चाहता हूँ। मैं महाराष्ट्र के लातूर शहर में रहता हूँ। यहाँ पर हमारा खुद का घर है।

हमारे घर में मैं, मेरी माताजी-पिताजी, मेरी दो बहनें और मेरा एक बडा भाई रहते हैं। पिताजी सरकारी दफ़्तर में क्लर्क हैं और मेरी माँ एक चाय की वर्क-शोप में नौकरी करती हैं।

हमारे घर में मेरा भाई सबसे बडा है और उसका नाम राहुल है, वो फ़र्निचर का काम करता है। उनके बाद, दो बहनों का नंबर लगता है।

बडी दीदी का नाम नेहा है और उनकी उम्र 20 साल है। वो दिखने मे काफ़ी सुंदर है और उनके मम्मे 36 के हैं और छोटी दीदी का नाम स्वाती है वो भी दिखने में काफ़ी सुंदर है। उनकी उम्र 18 साल की है और उनके मम्मे 34 के हैं!! !!!

उन दिनों स्वाती दीदी स्कर्ट और टॉप पहनती थीं, जब वो नीचे झुकती थीं तो उनके बडे-बडे मम्मे दिखाई पडते थे और बडी दीदी नेहा पंजाबी ड्रेस पहनती थीं।

मित्रो, आस पडोस के बहुत सारे लडके उन दोनों पर लट्टू थे। हर वक्त कोई ना कोई हमारे घर किसी ना किसी बहाने आता ही रहता था और मेरे बडे भाई से दोस्ती बढाने की कोशिश में लगा रहता था।

हमारे घर में, मैं सबसे छोटा था।

तो, बात उस वक्त की है; जब मैं आठवी कक्षा में पढता था…

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

चुड़क्कड़ छीनाल 1

बात आज से लगभग 5-7 साल पहले की हैं, जब मैं म प्र की छोटी सी सिटी पिपरिया में रहता था।

उन्हीं दिनों मैंने इंग्लीश सीखने के लिए एक क्लास चालू किया था। उस वक़्त क्लास में सिर्फ़ 13 लोग थे और कोई भी लड़की नहीं थी।

फिर कुछ दिन बाद 2 लड़कियों ने क्लास में आना शुरू किया – प्रिंसी और उसकी दोस्त प्रियंका!!

दोनों ही देखने में बहुत झकास माल थीं पर प्रिंसी की बात ही अलग थी। दूध सा गोरा रंग, छोटे-छोटे मौसमी जैसे चुचे, गोल मटकती छोटी सी गाण्ड और छरहरा बदन। उसका फिगर मेरे अंदाज़ से होगा – “30-24-32” और उम्र का तो क्या कहूँ, समझ लीजिए जवानी की दहलीज़ पर कदम रखा ही था!! !!!

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

Mujhe Randi Banna Hai 1

Mai tab 19 sal ki thi… Mai Gurgaon ki ek rich family ki hun… Mujhe hamesha high status wale boyfriend rakhna pasand tha…

Par unke sath sex mai mujhe santushti nahi milti thi… Na Jane kyu mai hamesha se ek “rand ki tarah” chudna chahti thi… Ek sath 2 ladke mujhe buri tarah chode…

Baat hai mere 19th birthday wale din ki…

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

रंडी की पैदाइश

जब मैं नवीं कक्षा में था और शादी के सिलसिले में एक रिश्तेदार के यहाँ गया था। मैं घर से मम्मी के साथ दो दिन पहले ही शादी में चला गया था।

शादी के घर में बहुत लड़किया आई थीं, जिसमें रानी नाम की एक लड़की भी आई थी… जो दिखने में तो मोटी थी; लेकिन थी, बडी़ गोरी!!

क्यूंकी मैं लडका था और शहर से गया था इसलिये मेरे लिए छत पर कमरे में ही बिस्तर लगा दिया गया और खाने के बाद मैं सोने चला गया।

गाँव मे लाईट नहीं थी, इसलिए मैं चुपचाप आँख बंद करके लेट गया।

मेरे जाने के लगभग दो घंटे के बाद सभी लड़कियाँ सोने के लिए ऊपर आ गईं…

जाडे़ के दिन थे; इसलिए मैं बिना हिले डुले सो रहा था।

सभी लड़कियाँ लेटने के बाद बातें करने लगीं, बातों बातों में सब चुदाई की बातें करने लगीं!!!

एक बोली – मैं अब तक “71” लोगों से चुदवा चुकी हूँ!!!

तो दूसरी बोली – मैंने “49” से चुदवाया है!!!

यह सब सुन कर मेरा लण्ड खडा हो गया था… …

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

मैं हूँ तेरी रांड

मेरी चाची का नाम, प्रोमिला है… उम्र है 35 साल; बडी मस्त रांड है साली!! बड़ी-बड़ी चूचियाँ और मोटी गाण्ड जिसे देख कर किसी का भी लण्ड खडा हो जाए।

मेरे चाचा एक किसान हैं और वो पूरा दिन खेत में काम करते हैं।

इधर मेरी चाची; अपना पूरा समय घर का काम करती हैं। उनके 2 बच्चे हैं, एक लडका और एक लडकी; लड़का 9 साल का और लड़की 11 साल की है।

दोनों बच्चे सुबह स्कूल चले जाते थे और चाचा खेत में!! मेरी चाची, पूरा दिन घर में अकेली रहती थीं।

बात उस समय की है जब मैं छुट्टियों में गाँव गया हुआ था…

जब मैं चाचा के घर पहुँचा तो मैंने देखा कि वहाँ मेरी चाची के साथ पहले से ही कोई था!!

मैं दरवाजे के पीछे छुप कर देख़ने लगा और मैंने देखा की कोई आदमी चाची के चुचे मसल रहा है, और अपना लौडा पीछे से चाची की गाण्ड पर रगड रहा है!!!

मैंने सोचा की चुदाई का अच्छा मौका है और मैं सीधा अंदर घुस गया। मुझे देख के दोनों चोंक गए…

मैंने उस आदमी को गाली सुनाकर भगा दिया और उसके बाद मैंने चाची को पकडा और बोला – कुतिया; वो कौन था…?? चाचा; वहाँ तुम लोगों के लिये दिन रात मर रहा है और तू यहाँ पराये आदमी से चूत मरवा रही है, साली रांड!! रुक; अभी चाचा को बताता हूँ… …

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply