ननद को अपने पति से चुदवाया- 1

8 min read

फ्लैट अपने नाम करवाने की चाहत में मैंने अपने पति के साथ मिलकर ऐसा प्लान किया जिसे आप इस desi sex kahani में पढ़ कर हैरान और दंग हो कर मजे लेने लग जायेंगे..

हाय दोस्तों मेरा नाम पल्लवी हैं और मेरी उम्र 28 साल है। मैं शादीशुदा हूँ मेरे पति सागर उनकी उम्र 30 साल हैं। हम मुम्बई मे रहते हैं हमारी शादी को 3 साल हुये हैं हमारी शादीशुदा लाइफ बहुत अच्छे से चल रही हैं।

सागर सेक्स मे बहुत अच्छे हैं सागर की सबसे अच्छी बात हैं की सागर का लंड सच मे 9 इंच बडा और 4 इंच मोटा हैं। पहली रात मे उसने मुझे ऐसा चोदा था की मेरा खून तक निकल आया था चूत में से। सागर का वीर्य भी अच्छा हैं 40-50 मिनट तक नही निकलता।

उसका सेक्स में मैं पूरी तरह से सटिसफाईड हूँ, सागर की मेरी एक ननद है मतलब सागर की एक बडी बहन उसका नाम मीना है। उसकी उम्र 32 साल है और उसको 2 लडके हैं 5 साल और 3 साल के मीना और मीना के पति भी मुम्बई मे रहते हैं।

मीना दिखने मे बहुत खूबसूरत औरत है, 2 बच्चे होने के बाद भी मेन्टेन हैं मीना की फिगर हम हफ्ते मे 1 या 2 बार एक दुसरे के घर आते जाते हैं, अच्छे रीलेशन हैं हमारे उनके साथ।

अब कहानी यहाँ से शुरू होती हैं मेरी सास पहले से नही थी और ससुर 7 महीने पहले ही गुजर गये थे, ससुर के जाने के बाद उनके फ्लेट पर दोनो भाई बहन की नज़र थी 2BHK का फ्लेट था मुम्बई में उनका।

हम चाह रहे थे की वो फ्लेट हमको मिले लेकिन हमारे एड्वोकेट ने कहा हमको की मेरे पति की बडी बहन की N.O.C. के बगैर वो फ्लेट हमें नही मिल सकता हैं। अब हम सोचने लगे की मीना कैसे मानेगी N.O.C. के लिए।

मीना भी आधा हिस्सा मांगेगी उस फ्लैट मे जो हमें देना नही था उसको लेकिन कोई रास्ता भी नज़र नही आ रहा था हमें। एक दिन ऐसे ही मैं टी.वी देख रही थी तब मेरे मन में एक ख्याल आया बहुत ख़तरनाक ख्याल था।

वो बस अब मुझे मेरे पति को कैसे भी करके मनाना था, उस दिन रात मे मेरे पति घर आए रात को जब हम बेड पर सेक्स के मूड मे थे तब मैंने सागर को कहा ‘मेरे दिमाग में एक प्लान हैं अगर वो सही से होता हैं तो फ्लैट सिर्फ हमारा हो सकता हैं।’

सागर ने पूछा क्या प्लान हैं तुम्हारे दिमाग़ में तब मैं कुछ देर सोच के बोली ‘अगर तुम तुम्हारी बडी बहन से सेक्स करते हो तो तब तक सागर चिल्लाया मुझ पर ‘क्या पागलों जैसी बातें कर रही हो पल्लवी तुम्हारा दिमाग़ जगह पर हैं भी की नही।’

मैं बोली पहले पूरी बात तो सुन लो सागर बोला मुझे कुछ नही सुननी तुम्हारी बात, तुम्हारे ख्याल घटिया हैं। फिर भी मैं बोली सुनो ध्यान से अगर तुम तुम्हारी बहन से सेक्स करते हो और मैं उसकी रिकॉर्डगिं कर लूं तो फिर तुम्हारी बहन N.O.C. देने के अलावा कोई रास्ता नही रहेगा।

सागर बोला ये सम्भव नही हैं डियर कुछ और प्लान सोचो, मैं बोली क्यों नही सम्भव सब सम्भव हैं सिर्फ आप हाँ कहो बाकी मैं सब संभाल लूंगी लेकिन सागर कुछ नही बोला और सो गया लेकिन मैं कहाँ हार मानने वाली थी।

दूसरी रात को मैने सागर को कहा सागर ऐसा करने से फ्लैट हमको मिल जाएगा और एक खूबसूरत बदन तुमको चोदने को मिल जायेगा। सागर बोला स्टुपिड वो मेरी बहन हैं ये हो ही नही सकता हैं तब मै बोली सागर से मुझे तुम्हारी बहन की एक कमज़ोरी पता हैं।

सागर बोला ‘कौन सी..’ मैंने कहा तुम्हारी बहन एक अनसटिसफाईड औरत है अपने पति के सेक्स में खुश नही है वो। सागर बोला क्यों खुश नहीं हैं, मैने कहा तुम्हारी बहन को बडा लंड चाहिए और तुम्हारे जीजा का लंड छोटा हैं और वीर्य भी बहुत कम हैं।

सागर बोला लेकिन उस बात से मेरा क्या लेना देना हैं, मैंने कहा यही तुम्हारी बहन का वीक पॉइंट का फायदा हमें उठाना हैं बस आप हाँ कहो बाकी मैं देख लेती हूँ ये सब कैसे करना हैं। सागर कुछ देर सोचता रहा फिर बोला ठीक हैं लेकिन कोई प्रोब्लम नहीं होनी चाहिए किसी को भी।

मैं खुश होकर बोली ज़रा भी नही डियर और हमने उस रात बहुत मज़े में सेक्स किया सेक्स होने के बाद सागर सो गया लेकिन मुझे नींद नही आ रही थी अब मेरा दिमाग आगे के प्लान के बारे मे सोचने लगा था।

2 दिन बाद मीना हमारे घर आई सुबह ही हम दोनो बेडरूम में बातें कर रहे थे तभी मेरे दिमाग़ मे एक आईडिया आया, मैं मीना से बोली आज पूरा बदन और कमर दर्द कर रही हैं मेरी। मीना बोली ‘क्यों..’ मैने कहा तुम्हारे भाई को पूछ लो।

मीना हँस के बोली आप ही बता दो ना भाभी तब मैने बताया ‘आज सुबह 5 बजे ही तुम्हारे भाई का सेक्स करने का मूड हुआ और उन्होंने मुझसे इतना वाइल्ड तरीके से सेक्स किया की मेरा पूरा बदन दर्द कर रहा हैं और कमर भी उनका 9 इंच के बडे लंड ने मेरी चूत की हालत खराब कर दी अब भी मुझे ठीक से नही चला जा रहा हैं।

कम से कम 50 मिनट तक बिना रुके चोद रहे थे मुझे ज़ोर ज़ोर से ये सब बाते करते वक़्त मैं मीना के हाव भाव देख रही थी मेरी बातें सुन कर मीना कुछ गरम होने लगी थी उसकी साँस भी ज़ोर से लेने लगी थी। धडकन तेज हो गई थी और चेहरे पर शर्म आने लगी थी।

मैं फिर आगे बोली मेरा 5 बार पानी निकल चुका लेकिन तुम्हारे भाई का पानी निकलने का नाम ही नही ले रहा था आखरी में मैने उनको मेरी गांड मे लंड डालने को कहा तब 10 मिनट के बाद उनका पानी निकला पूरी तरह से ठुंडी कर दिया मुझे तुम्हारे भाई ने।

अब मीना और बेचैन लगने लगी मेरी बातें सुन के फिर मैंने टॉपिक चेंज कर दिया लेकिन मीना की बेचैनी कम नही हुई मेरा तीर निशाने पर लग गया था। रात को मेरे पति को मैने यह किस्सा बताया तब वो बोले ‘तू एक नम्बर की नौटंकी बाज़ हैं।’ तेरा हाथ कोई नही पकड सकता हैं।’ मैंने स्माइल दिया फिर सागर ने पूछा अगला प्लान क्या हैं।

मैं बोली अगले हफ्ते में मीना का पति ऑफीस के काम से 3 दिन के लिए बाहर जा रहे हैं तब मैं उसको बच्चो के साथ यहाँ बुलाने वाली हूँ। सागर भी मुस्कुराया फिर मैंने मीना को कॉल करके बोल दिया की जीजा के जाने के बाद 3 दिन यहीं आ जाओ मीना भी राज़ी हो गई और अगले हफ्ते हमारे यहा आ गई।

जीजा के जाने के बाद शाम को सागर घर आया तब मीना के बच्चों से बहुत खेला सबने खाना खा लिया बच्चे जल्दी सो गये। बच्चों को हॉल मे सुला के हम कुछ देर बातचीत कर रहे थे बाद मे मैं और सागर भी चले गये सोने को।
मीना हॉल मे ही सोने लगी, हमारा बेडरूम हॉल के पास ही था बेडरूम मे आते ही मैंने सागर को बता दिया क्या एक्टिंग करनी हैं, हम दोनो नंगे हो गये और बातें करने लगे थोडी ज़ोर से ताकि मीना सुन सके।

मुझे पता था मीना सोई नही अभी तक हमारी बातें शुरू हुई। मैं ‘सागर ज़रा धीरे से दबाओ ना मेरे बूब्स मुझे दर्द होता हैं..’ सागर बोला ‘तेरे बूब्स दबा दबा के मुझे दीदी जैसे बडे करने हैं..’ मैं बोली ‘तुम्हारी दीदी के तो कितने बडे बूब्स हैं, तुमको पसुंद हैं वैसे बडे बूब्स..’

सागर बोला ‘हाँ.. डियर जब भी दीदी घर पर आती तो मैं उसके बूब्स देखते ही रहता हूँ कितने खूबसूरत बूब्स हैं मेरी बहन के जी करता हैं की दबाता रहूँ।’
फिर हम बिना बोले किस्सिंग शुरू करते हैं मै धीरे से बेडरूम के दरवाजे के नीचे के छोटे से छेद की तरफ देखती हूँ तब मुझे वहा परछाई दिखती है मीना की। मैं समझ जाती हूँ की मीना बेडरूम के दरवाजे के पास खडी हैं और हमारी बातें सुन रही हैं।

फिर सागर मेरी चूत मे लंड डालता हैं और मैं चिल्ला उठती हूँ ‘ओह गॉड धीरे से डालो ना..’ कितना दर्द हो रहा हैं मुझे मेरी तो चूत फटने लग गई हैं..।’ सागर बोलता हैं ‘चुप रंडी औरत तरसती हैं ऐसे बडे लंड के लिए और तू साली डरती हैं क्या बडे लंड से।

मैंने कहा लेकिन सागर आपका तो बहुत बडा हैं कोई औरत ऐसा लंड एक बार ले ले तो ज़िन्दगी भर नही भूल पायेगी तुमको। सागर बोला चल आज तुझे जन्नत की सैर कराता हूँ और ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगा और मैं और ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी ‘ऊओई मैं मर गयी मै तो..।’

कहानी आगे जारी है..

दोस्तों जिस फ्लैट को अपने नाम करने की चाहत रख राखी थी उस फ्लैट में मेरे पति की बहन मीना की भी हिस्सेदारी थी और उस हिस्सेदारी से हटाने के लीये मैंने एक विचित्र प्लान बनाया अब इससे आगे का हाल इस desi sex kahani के अगले भाग में लाऊँगी.. आप सब को कैसी लग रही यह कहानी अपने कमेंट्स भेजें..

Written by

akash

Leave a Reply