ममेरी बहन को चोद सील तोड़ा

(Meri Pehli Chudai Mameri Bahan Ko Chod Seal Toda)

मैं ममेरी बहन की मचलती जवानी देख, उसको चोदने के बारे में सोचने लगा। एक बार मुझे Meri Pehli Chudai का मौका मिल ही गया, और मैंने उसकी कुँवारी चूत को जमकर चोदा

नमस्कार दोस्तो,

मेरा नाम साहिल कुमार है और मैं सतना का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 21 साल है और मैं इंजीनियरिंग तीसरे साल का स्टूडेंट हूँ।

मैं मेरी सेक्स स्टोरी का पिछले कई साल से नियमित पाठक रहा हूँ। हालांकि यह मेरी पहली कहानी है जो मैं आप सबके सामने रखने जा रहा हूँ।

यह मेरे पहले सेक्स की कहानी है, जो मैंने अपने 19 साल पूरे होने पर किया था। अब कहानी पर आता हूँ।

मेरी एक कजिन है स्वेता, जो मेरे मामा की लड़की है, और मेरे से एक साल की छोटी है।

क्या मस्त माल है, यारों पूछो मत! वो बड़ी बड़ी आँखे नारियल के आकार के दूध! वो मस्त गांड! वो पतली कमर! देखने वालों के लण्ड सलामी देने लगेंगे।

मैं उसे बचपन से ही लाइन मारता था, वो भी काफी कुछ समझती थी। कभी-कभी तो मौका देखकर, मैं उसके चूचे मसल देता था।

उसने कभी बुरा नहीं माना, लेकिन कभी चोदने का मौका नहीं मिला। वो हमेशा कहती, जब पूरा मौका मिलेगा तभी कुछ होगा।

साला मौका ही नहीं मिला रहा था। लेकिन ऊपरवाले के घर में देर है अंधेर नहीं!

मेरे दूसरे सेमिस्टर के एग्जाम आने वाले थे, और घर में खाना बनाने वाला कोई नहीं था। सब चाचा जी की शादी में गए हुए थे।

मैंने सोचा यही मौका है! मैंने मामी को अपनी प्रॉब्लम बताई, तो मामी ने कहा स्वेता को ले जाओ, वो खाना बना देगी।

मेरी तो लाटरी लग गई, अगले दिन मैं उसे लेकर आ गया। आते ही मैंने सबसे पहले, दरवाजे और खिड़की बंद कर दी।

मेरी पहली चुदाई करने का मौका

उसको जमकर किस करने लगा, उसके फूलों सी नाजुक होंठ का स्वाद जबरदस्त था।

उसने मुझे रोका और बोली- अभी तो पूरी रात बाकी है। मैं भागी थोड़ी जा रही हूँ, जी भर के प्यार कर लेना।

मैंने खुद पर कण्ट्रोल किया और जाकर 3 पैकेट कन्डोम का उठा लाया। साथ में एक बियर की बोतल और कुछ स्नैक्स।

जब मैं लोटा तो देखा, कि वो एक लाल रंग की नाईटी पहने हुए खाना बना रही थी।

मैंने पीछे से पकड़ कर, उसके चूचे दबाने चालू कर दिया। क्या मस्त माल थी, यारों पूछो मत!

हम एक दूसरे को किस करने लगे, मैंने उसकी नाईटी को उतार दिया। उसने लाल रंग की ब्रा और पैन्टी पहन रखी थी।

अब वो सिर्फ ब्रा और पैन्टी में थी, पूरा बदन मचल रहा था, बिल्कुल नागिन जैसी दिख रही थी।

मैंने लाये हुए, बियर की बोतल के ढक्कन को खोला, और उसकी पेट पर गिरा दिया।

गिरते हुए बियर को मैं अपनी जीभ से चाटने लगा और उसके पूरे बदन को चूमने लगा।

अब मैंने सेब और अंगूर उसके अधनंगे बदन पर बिखेर दिया। अब मैं उसके बदन के कोने कोने से बिखेरे हुए फल खाने लगा।

अब मैंने उसको ले जाकर बेड पर लिटा दिया, और ऊपर से लेकर नीचे तक चाटना शुरू कर दिया।

वो अब सिसकारियाँ लेने लगी- आह्ह! हहह! झज! ह्ह्ह! ह्ह्ह! ह्ह्ह्ह! उसकी साँसें गर्म हो रही थी।

नंगी कोमल चूचियों को पीने का मजा

मैंने ब्रा उतार फेंके और अपना मुँह उसके मम्मों में लगा दिया, क्या गजब का मजा आ रहा था!
मैंने उसकी पैन्टी में ऊँगली डालकर ऊपर नीचे करने लगा।

उसके मुँह से सेक्सी आवाजें निकल रही थी। मैंने अपना लण्ड निकल कर उसके मुँह में डालना चाहा!

उसने मना कर दिया और बोली- मुझे यह सब पसंद नहीं है। मैंने उसको प्यार से मनाया और अपने लण्ड को उसके मुँह में घुसेड़ दिया।

अब मैं उसकी मुँह की चुदाई करने लगा, मैं अपने लण्ड को उसके मुँह में आगे पीछे करने लगा।

वो मेरा लण्ड अपने मुँह से निकालने की असफल कोशिश कर रही थी, क्योंकि मैं अपने हाथों से उसके सर को अपने लण्ड में दबाए रखा था।

अब मैंने उसकी पैन्टी में हाथ डाल कर, उसकी चूत के दाने को कुरेदने लगा। अब वो बेकाबू हो गई और मेरे लण्ड को मस्ती में चूसने लगी।

वो मेरे लण्ड ऐसे चूस रही थी, जैसे कोई गन्ना चूस रही हो! अब मैं सातवें आसमान में था।

चूत चुसाई और कुँवारी चूत चुदाई

मैंने पैन्टी उतार कर, उसकी सफाचट चूत में अपना मुँह लगा कर, उसकी चूत का रसपान करने लगा।

थोड़ी देर में ही वो झड़ गई, अब मैंने अपने लण्ड पर कन्डोम चढ़ा लिया। उसकी चूत के दरवाजे पर रखा, और थोड़ा सा धक्का लगाया।

चूत टाइट थी, तो लण्ड नीचे फिसल गया। मैंने फिर कोशिश किया, तो अबकी बार अन्दर चला गया।

उसके मुँह से मुम्म्म! म्म! म्ममइ! य्यम! ममम! यय! यय! ययय! मर गई माँ! निकालो इसे प्लीज आवाजें करने लगी।

Comments

Scroll To Top