औरत की पहली पसंद, लण्ड हो भुसण्ड

5 min read

Hindi Sex Stories Me Aaj Ka Gyan – Jyatar Mahila Pehle Lip Kiss Me Hi Ye Taay Kar Leti Hain Ki Wo Mard Ke Sath Chudai Karengi Ya Nahi..

लेखक – रोशन

नमस्कार दोस्तो..

मेरा नाम रोशन है और मैं छपरा बिहार का रहने वाला हूँ.. मैं ग्रेजुयेट हूँ और नौकरी के तलाश मे हूँ..

ये मेरी पहली कहानी है और मैं आशा करता हूँ की आप सब को मेरी कहानी पसंद आएगी.

जैसा की आप सब जानते है कि सेक्स भी हमारे जीवन मे कितना मायने रखता है सब लोग सेक्स करना चहते है.

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

मैं भी सेक्स का बहूत बड़ा शौकीन हूँ, पर मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है तो मैं अक्सर हाथ से ही हिला कर शांत हो जाता हूँ और ये जो कहानी है, वो मेरे और भाभी के बीच की है.

ज्याद समय ना बरबाद करते हूये, मैं अपनी कहानी पर आता हूँ.

ये बात तब की है, जब मैं एक परीक्षा देने दिल्ली गया हुआ था.

परीक्षा सुबह दस बजे थी..

जब मैं परीक्षा देकर बाहर आया तो ट्रेन पूछने स्टेशन गया.

वहाँ जाकर पाता चला कि एक घंटे पहले ट्रेन निकल चुकी है और दूसरी ट्रेन रात मे है तो मुझे याद आया की मेरे गाँव के, मेरे घर के बगल के एक सोहन भैया दिल्ली मे अपने पूरे परिवार के साथ रहते है तो मैंने उन्हें फोन किया तो सोहन भैया ने अपने घर के पता दिया.

दिये हुये पते पर पहुँच तो भाभी ने दरवाजा खोला, मैंने भाभी को प्रणाम किया.

तो भाभी बोली – अंदर आओ…

मैंने पूछा – भैया कहाँ है…

तो भाभी बोली – भैया ड्यूटी गये है और रात को आ जायेंगे… फ़िर हम लोग बाते करने लगे…

भाभी और मैं, एक दूसरे को गाँव से ही पहचानते थे और मजाक किया करते थे लेकिन गाँव पर बात सिर्फ मजाक तक थी पर जब मैंने भाभी को दिल्ली मे देखा तो क्या लग रही थी क़यामत से भी डेन्जर क्या गाल थे..

सेव की तरह लाल और आँखे जान लेने वाली और पीछे से तो एकदम मस्त माल, भाभी की उम्र यही कोई बीस साल होगी.

कूछ देर तक हमने बातें की, फिर मैं स्नान करने चला गया.

फ़िर मैं बिना कपङे के स्नान कर रहा था तो मुझे लगा कि कोई बाथरूम के गेट पर है और मुझे स्नान करते देख रहा है.

मैंने देखा तो वो भाभी थी.

मैंने गेट खोल पूछा – क्या भाभी, कोई काम है क्या…

वो बोली – नहीं… और चली गई..

जब मैं स्नान करके आया तो भाभी बोली की भैया के कपड़े पहन लो तो मैंने भैया के कपड़े लाने उनके रूम मे चला गया.

दोस्तो जो मैंने वाहा देखा उससे तो मेरे होश उड़ गये, वाहा पर कोंडोम के पैकेट और बुलू फिल्म की सीडी पड़ी थी, मैं ये सब देख रहा था, तब तक भाभी आ गई, और मुझे कोंडोम हाथ मे लिये देख लिया.

फ़िर मुस्कुरा कर बोली – क्या देवर जी, क्यों एसे कोंडोम को निहार रहे हो कभी इसका इस्तेमाल किया है या नहीं…

मैं बोला – नहीं…

तो भाभी बोली – इस्तेमाल करना चाहोगे…

तो मुझे लगा कि भाभी मुझ पर फिदा हो रही है.

तो मैं बोला – हाँ…

तो भाभी पास आकर बोली – अभी…

मैं बोला – अच्छा मौका है, भैया भी नहीं है…

मैं इतना बोला ही था की भाभी, मेरे पास आ गई और मेरा अंडरवियर नीचे कर मेरा लंड हाथ मे ले लिया.

फ़िर बोली – बाप रे इतना मोटा…

दोस्तो, शायद मूठ मारने के कारण मेरा लंड कूछ बड़ा है, यानी मेरा लण्ड 8 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा है, जैसा कि आप लोग जानते है कि सभी औरतें लम्बा और मोटा लंड पसंद करती है, तो भाभी को भी मेरा लंड पसंद आ गया और भाभी मेरे लंड को आईसक्रीम की तरह चाट रही थी और मैं उनके दूध दबा रहा था.

फ़िर दस मिनट बाद, भाभी गर्म हो गई और बोलने लगी – जल्दी चोदो, फाड़ दो मेरी चूत को अब बरदाश्त नहीं हो रा है और कूछ कूछ बोलने लगी.

क्या चूत थी एकदम चिकनी, बिना बाल के..

मैंने भी समय न गंवाते हुये, अपने लंड को उनकी चूत पर सेट किया और एक जोरदार झटका मारा और भाभी चिल्लाने लगी – बाहर निकालो, मर जाऊँगी… बहुत मोटा है… लेकिन दो मिनट बाद, उन्हें भी मज़ा आने लगा और भाभी के मुँह से फाड़ दो चूत को… पहली बार, कोई मर्द मिला है… आ आ आ… और जोर जोर से उम्म्म्म म मम म म आह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह… जैसी आवज़ निकल रही थी.

पूरा रूम “फच फच” गूँज रहा था.

इस बीच, भाभी झड़ गई और पाँच मिनट बाद मैं भी झड़ गया..

कुछ देर बाद, हम दोनो फिर तैयार हो गये.

मैं बोला – भाभी, अपनी गांड मारने दो ना…

भाभी बोली – नहीं, तुम्हारा लंड बहूत मोटा है… मेरी गांड फाड़ देगा…

मैं बोला – भाभी, एक बार अपनी गांड मारने दो…

लेकिन, भाभी नहीं मानी बोली – चूत मारो…

फ़िर, मैं भाभी के होंठ को चूसने लगा और दस मिनट बाद भाभी गर्म हो गई उनके मुँह से उ उ आ आ आ ओ ओ सी सी सी उफ़ उफ़ आह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह… निकलने लगा और वो बोलने लगी – जल्दी करो प्लीज़, ज़्यादा मत तड़पाओ…

मैंने भी अपना लंड भाभी की चूत मे डाला और मैच चालू हो गया.

इस बीच, भाभी झड़ गई..

मैं भी झड़ने वाला था और दो मिनट बाद झड़ गया..

फ़िर दोनो ने एक साथ स्नान किया और खाना खाया और फ़िर में तैयार हुआ और उन्हें किस किया और स्टेशन निकल पड़ा, ट्रेन आने वाली थी..

मेरी अगली कहानी सुहागरात आने वाली है और आप से निवेदन है कि ये कहानी आप सब ज़रूर पढे.

तो दोस्तो कैसी लगी, ये मेरा सेक्सी कहानी ज़रूर बताये..

Hindi Sex Stories Padhte Rahiye Aur Lip Kiss Ki Practice Karte Rahiye…

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply