बारिश की रात में लण्ड भाभी के हाथ में

4 min read

Hindi Sex Stories Padhne Waali Mahilaye Kya Janti Hai Ki Kisi Kisi Mahila Ke 3 Boobs Bhi Ho Sakte Hain… Medical Language Me Isse Polimestia Kaha Jaata Hai…

लेखक – दिलीप

हेलो दोस्तो…

मैं 20 साल का विद्यार्थी हूँ.

मेरा नाम दिलीप है.. मैं अपने जीवन की एक सत्य कहानी आपको सुनाने जा रहा हूँ..

मैं दिखने में भरा पूरा मर्द हूँ.. अगर, कोई चुदक्कड़ लड़की मुझे नंगा देख ले तो चुदाये बिना रह नहीं सकती.

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

अब कहानी पर आता हूँ.

मैं बारमेर (राजस्थान) का रहने वाला हूँ, बारमेर में अच्छी पढाई नहीं हो पाने के कारण मुझे नजदीकी शहर जोधपुर जाना पड़ा.

मेरा कॉलेज में एडमिशन हो गया था, पर मुझे अब जोधपुर में मकान की तलाश थी, इसलिए मेरे एक दोस्त ने अपने किसी जानने वाले के यहाँ मुझे एक कमरा दिला दिया.

अब में भी जोधपुर में रहने लग गया था..

जहाँ रहता था, वहां पर एक रमेश भैया और उनकी एक पत्नी रीना भाभी थी.

मैं उनको भैया और भाभी बुलाता था..

छ: महीने उनके साथ रहने पर अब वे मुझे अपना घर का सद्स्य समझने लगे थे, वे मुझे अपने घर के हर सुख दुःख बताने लगे..

अब मैं उस घर में टिक चूका था.

एक दिन भैय्या को ऑफिस के काम से दिल्ली जाना था. अब वे मुझ पर भरोसा करने लगे थे तो अब वे बेफिक्र दिल्ली जा सकते थे, अपनी पत्नी को छोड़ कर.

भैय्या को उस रात रेल में बेठा कर आ रहा था की जोर से बारिश शुरु हो गई.

मैं पूरा भिग गया था जब में घर पहुंचा तो भाभी बोली – दिलीप अपने गिले कपडे उतार लो, वरना ठंड लग जाएगी…

मैंने कहा – ठीक है भाभी…

और भाभी बोली – दिलीप आज तुम्हारे भैय्या घर पर नहीं है इसलिए कपडे बदल कर तुम मेरे साथ खाना खाने आ जाना… तो मैंने भी उनके हा में हा भर दी.

मेरा कमरा भाभी के कमरे के ठीक बाजु में ही था तो जब में कपडे बदल रहा था तो लाइट चली गई जैसा हमेशा बारिश आने पर होता है, तो मैं अपना पाजामा पहन कर बाहर आ गया हॉल में..

मैंने सिर्फ पजामा ही पहना था, जैसे ही मैं टी- शर्ट पहन रहा था तब लाइट आ गई.

भाभी मुझे देखकर गरम हो गई ऐसा मुझे लगने लगा.

तब हमने खाना खा लिया..

फिर हम रात को भाभी के कहने पर साथ में टीवी देख रहे थे.

इतने में टीवी पर हॉट सीन आने लगा जिसे देख कर भाभी और गरम हो गई.

फिर हमने एक भूत का शो देखा फिर अपने अपने कमरे में सोने चले गए.

मैं अपने कमरे में अपना पजामा उतार कर मूठ मारने लगा, इतने में मेरे कमरे का दरवाजा खट खटाया तो मैंने खुद को सही कर के कमरे का दरवाजा खोला तो भाभी बाहर खड़ी थी.

भाभी बोली – दिलीप, मुझे अकेले सोने में डर लग रहा है क्या तुम मेरे कमरे में सोना चाहोगे तो मैं खुश हो गया और शायद, भाभी ने मेरा पजामे में खड़ा लंड देख लिया हो.

फिर मैं भाभी के कमरे में सोने चला गया.

तब मैं पलंग के नीचे सो रहा था और भाभी उपर, कुछ देर बाद मुझे लगा कोई मेरा लंड हिला रहा था.

तब मेने देखा लेकिन कुछ समझ में आता उससे पहले ही भाभी बोली – की आ जा मेरे राजा मैं तुझसे कब से चुदवाना चाहती थी पर आज मोका मिला है प्लीज मुझे चोदो ना…

तब मुझे समझ आने लगा.

मैं बोला – हा मेरी रंडी मैं भी तुझे कब से चोदना चाहता था, आ जा तेरी फाड़ता हूँ…

फिर, मैंने भाभी के सारे कपडे उतार दिए और भाभी ने मेरे फिर भाभी मेरा लंड चूसने लगी और मैं कभी भाभी के बोबे मसलता तो कभी चाटता..

काफी देर तक मैं उनकी चूत और बोबो के खेलता और भाभी मेरे लंड के साथ खेलती.

फिर मैं भाभी के ऊपर सो कर भाभी की दोनों टांगो को फैला दिया और अपना कुंवारा और लम्बा लंड भाभी की चूत पर रखा और एक जोर के झटके से मैंने लंड अंदर डाल दिया..

फिर 20 मिनट तक चुदाई की और अपना सारा पानी भाभी के पेट पर गिरा दिया, फिर रात को हमने एक बार और चुदाई की फिर नंगे नंगे एक दुसरे प़र सो गए.

ये थी मेरी पहली चुदाई की कहानी.

Hindi Sex Stories – Baarish Ki Raat Me Lund Bhabhi Ke Hath Me

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply