सोनी पंजाबन कुड़ी 10

(Soni Panjaban Kudi 10)

This story is part of a series:

Meri Sex Story Par Pesh Hai Soni Panjaban Kudi Ka 10th Part…

लेखक – पिंटू शर्मा

आंटी – यार, आज तो बड़ी चूत मारी.. मज़ा आ गया.. तुम चूत लेते हो तो पता नहीं क्या जादू करते हो चूत मस्त हो जाती है.. अब तुम बलविंदर क साथ वहाँ चले जाओ..

आंटी ने बलविंदर को आवाज़ लगाई..

बलविंदर – हाँ, बोलो भाभी.. अरे तुम कपड़े तो पहन लो.. 8 बजने वाले हैं..

आंटी – बलविंदर तुम पिंटू को ले के जाओ.. मैं फोन करूँ तब आ जाना.. लगभग 9:30 तक फोन करूँगी..

हम जाने क लिए, तैयार हो गये..

बलविंदर – चलो.. मैं तो तैयार हूँ..

आंटी – आराम से जाना.. किसी को कोई शक ना हो.. बलविंदर जाते ही चूत चुदाने मत लग जाना.. रात को ही करना है, यहाँ..

बलविंदर – भाभी, आपने तो अभी चूत मरवाई है.. और मुझ से कह रहे हो सेक्स मत करना.. क्या बात है..

आंटी – अरे यार.. मज़ा तो बनने दो.. मज़ा ही ख़तम थोड़े ही करना है..

बलविंदर – चलो, पिंटू मेरे पीछे – पीछे..

फिर हम दोनों वहाँ चले गये..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

हम दोनों वहाँ दूसरे मकान में चले गये.. नीचे वाले भाग में सामान पड़ा था..

वो ऊपर के मकान में ले गई.. मकान अच्छा था.. शायद वो किराए पर देते थे..

उसने एक कमरा खोला.. कमरे में सब चीज़े अच्छे ढंग से रखी हुई थी..

उसने बेड को साफ किया.. अलमारी में से रज़ाई निकाल दी और गेट बंद कर दिए.. शाम के बाद धुंद भी आ गई थी..

बलविंदर – पिंटू यार, जल्दी से रज़ाई में आ जाओ.. ठंड बहुत है.. यार, तुम से अब खूब बात करूँगी अकेले में..

मैंने उसके पास जा कर रज़ाई ओढ़ ली.. उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने दूध पर रख दिया..

मैंने उसके दूध को दबाने लगा.. वो मुस्कुराई और मस्त हो गई..

बलविंदर – यार, एक बात बताओ.. मज़ा किसमे ज़्यादा आता है .?. एक जवान चूत मारने में या 30 साल की चूत मारने में .?.

पिंटू – क्या मतलब .?.

बलविंदर – मेरी चूत में मज़ा ज़्यादा आया या भाभी की चूत में .?.

पिंटू – दोनों में ही..

बलविंदर – खुल कर बताओ, यार..

पिंटू – 18 साल की जवान लड़की पहली बार अपनी चूत मरवती है तो बंद सील को तोड़ने का बहुत मज़ा आता है.. उसकी चूत टाइट होती है.. दूध भी आम की तरह होते हैं.. गुलाबी निप्पल चूसने में मज़ा आता है.. जो लड़की टी शर्ट में ब्रा नहीं पहनती उनके दूध जंप खाते हैं.. वो मस्त होते हैं.. उनके दूध तो पकड़ने में मज़ा आता है.. स्कूटी पर लड़की जाती है तो दूध जंप खाते हैं.. वो भी मस्त होती है.. 18 साल की चूत मस्त होती है.. पर शुरू में डरती – डरती चूत मरवती है और बोलती बहुत कम है ख़ास तौर से लंड चूत तो बिल्कुल नहीं बोलती तब मज़ा नहीं आता.. अगर कोई लड़की तुम्हारी तरह थोड़ी सी भरी हुई हो तो उसका सब माल मस्त होता है..

वो खुश हो गई..

बलविंदर – तो मेरा माल तुम को पसंद आ गया.. तो सबसे पहले मेरी चूत मारना.. भाभी को बाद में चोदना.. भाभी तो रोज भाई से चुदवा लेती है.. मैं किस से मरवा लूँ बताओ .?. .?.

पिंटू – किसी से भी बात कर लेना.. तुम्हारी चुदाई के लिए तो पूरा कालका आ जाएगा..

बलविंदर – अब बताओ.. बड़ी उम्र वाली लेडी के साथ कैसा लगाता है .?.

पिंटू – असली मज़ा तो भाभी देती है.. आंटी भी चल जाती है..

बलविंदर – आंटी, भाभी में क्या फ़र्क होता है .?.

पिंटू – जिसकी उम्र 35 से कम हो वो भाभी और जो 35 से ऊपर हो वो आंटी होती है..

बलविंदर – भाभी का बताओ..

पिंटू – चुदाई में, भाभी नंबर 1 होती है.. उसको चुदाई का एक्सपीरियेन्स भी होता है और वो जवान भी होती है.. अगर वो अपने पति से नहीं करवाती है तो फिर किसी और के साथ खूब मस्त हो कर चुदाई करती है.. अपने पति के अलावा उसको किसी के भी साथ खूब मज़ा लेती है.. वो भी आस – पड़ोस क जवान लड़के को ढूँढती है जो मौका मिलते ही उसको चोद दे.. वो शुरू में हँसी मज़ाक करती है.. फिर सेक्स के बारे में बातें करती है.. लास्ट में चुदाई करवा लेती है.. 24 – 28 साल की भाभी चुदाई के लिए मस्त होती है..

बलविंदर – वाह !! अब आंटी के बारे में बताओ..

पिंटू – आंटी तो नंबर 1 चुड़क्कड़ होती है.. खुल कर सेक्स करती है.. अपने से छोटे लड़को को चुदाई के लिए ढूँढ कर दिन – रात चूत चुदवाती हैं..

बलविंदर – यार, और बताओ ना..

पिंटू – ज़्यादातर वो लेडी चूत चुदवाती है, जिनके पति उनको पूरा मज़े नहीं दे पाते.. कुछ तो मज़े के लिए ही बाहर से चुदाई करवाती हैं.. बहुत सारे आदमी भी दूसरी की बीवियो को चोदते हैं.. नौकरानी तो चुदने के लिए ही काम पर रखते हैं.. ये सब तो चलता रहता है.. हीरो भी हेरोइनो को बहुत चोदते है.. एक को चोद कर छोड़ देते हैं फिर दूसरी को चोदना शुरू कर देते हैं.. यार तुम्हें पता तो है ही.. जो सूपर स्टार होते हैं उनके तो मज़े ही मज़े हैं.. वो लगभग साड़ी हेरोइनो को चोद देते है..

बलविंदर – वो अपनी चूत क्यों मरवाती है..

Comments

Scroll To Top