सोनी पंजाबन कुड़ी 7

(Soni Panjaban Kudi 7)

This story is part of a series:

Meri Sex Story Par Pesh Hai Soni Panjaban Kudi Ka 7th Part…

लेखक – पिंटू शर्मा

मैंने उसे डॉगी स्टाइल में लकर् पीछे से लंड चूत में डाल दिया..

मेरा लंड और जांघ उसके गोल गोल नितंबो से टकरा कर एक अलग ही नशा हो रहा था.. उसकी चूत बड़ी रसीली थी..

बलविंदर मेरे पास ही थी.. वो भी खुश थी.. लंड पूरा बाहर आता और फिर उसी स्पीड से अंदर जाता..

हमारा ये खेल कोई नहीं देख रहा था.. इतनी ठंड ने सेक्स का मज़ा डबल कर दिया..

मैं आंटी की कमर को छोड़ कर उसके रसीले दूध पकड़ लिए.. अब दूध के झटकों से सेक्स की गाड़ी चल पड़ी..

आंटी – यार सर्दी में सेक्स का मज़ा ही कुछ और है.. तुम पूरे घोड़े की तरह मेरे ऊपर चढ़ कर चोदो मेरे राजा.. आज बहुत मज़ा आ रहा है.. ओ या ओ या ओ या या या .. कम ओन..

मैंने अब उसके दोनों बूब्स को छोड़ कर उसके कंधे पर हाथ रख लिया.. सेक्स का ये स्टाइल बढ़िया था..

मुझे थोड़ा सा ही ज़ोर लगने पर ही खूब मज़ा आ रहा था.. लंड भी सही जा रहा था..

मैं लगातार चोदता जा रहा था..

बलविंदर मेरे सामने दोनों की चुदाई देख रही थी..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

अब मैं उसके ऊपर चढ़ गया सारा लंड उसकी चूत में था.. उसकी पीठ पर लेट गया..

उसकी पीठ को चाटने लगा वो बहुत एग्ज़ाइटेड हो गई..

आंटी – यार हिलना मत ऐसे ही रहो.. प्ल्ज़ प्ल्ज़ मुझे मज़ा आ रहा है..

कुछ देर बाद मैं उतर कर फिर शुरू हो गया..

आंटी – यार अब धीरे – धीरे से चोदा – चादि करो.. मैं अभी झड़ना नहीं चाहती.. चलो थोड़ी देर रुक जाओ..

मैंने लंड बाहर निकाल दिया और लेट गया.. फिर मैंने बलविंदर की तरफ देखा.. वो मुस्कुराई..

मैंने उसको घोड़ी बना लिया.. उसकी चूत चुदने के लिए तैयार थी.. उसमे चिकनाई थी.. वो बहुत खुश थी..

अब मैं कभी चोदता कभी पूरा ऊपर चढ़ जाता और उसके दोनों दूध पकड़ कर चोदने लगाता..

मेरे लंड और दोनों पैर उसकी मुलायम गाण्ड और पैरो से भीड़ – भीड़ कर फट फट की आवाज़ कर रहे थे..

आगे के सारे शरीर में मज़ा ही मज़ा आ रहा था.. जहाँ – जहाँ मेरी बॉडी बलविंदर की बॉडी से टच कर रही थी वहाँ बहुत ही मज़ा आ रहा था..

अब मैंने बलविंदर को बेड के कोने पर ले आया और खुद ज़मीन पर खड़ा हो कर चोदने लगा.. अब ज़ोर कम लगाना पड़ रहा था..

बलविंदर के दूध पकड़ कर चोद रहा था..

बलविंदर – आआहा बहुत मज़ा आ रहा है चोदो.. आआहाआ मार गई..

मैं सारा लंड बाहर निकलता और फिर सारा अंदर डालता..

बलविंदर – जल्दी करो.. 2 मिनिट में काम होने वाला है.. भाभी को.. भी.. चोदना.. आहा मार दिया मुझे.. राजा जल्दी करो.. आआहाआ मार गई मैं.. चूत का सारा रस निकल दो.. .. साड़ी चूत चोदो.. .. मैं राजा की रानी हूँ.. रानी बना लो मुझे.. चलते रहो.. रुकना मत..

बलविंदर जल्दी झड़ गई.. मैं भी झड़ गया..

फिर भी और मज़ा आने वाला था.. आंटी तैयार तीस..

बलविंदर चूत मरवा कर खड़ी हो गई.. वो कपड़े पहन कर बाहर चली गई..

Comments

Scroll To Top