मौसी की लड़की और मैं

(Mausi Ki Ladki Aur Main)

मौसी की लड़की की जवानी को देखकर मैं उसके साथ meri chudai करने की सपने देखा करता और एक दिन मेरा वह सपना ऐसे सच हो गया जैसे सब कुछ पहले से सेट हो..

हैलो, मेरा नाम मनीष है। मैं अभी पुणे के पास चिंचवड में रहता हूँ। मेरी उम्र अब 25 है और मेरा लंड सामान्य आकार का लेकिन औरतो को खुश करने के लीए काफ़ी है।

मैं पुणे मे पढ़ाई के लिए आया हूँ। ये कहानी मेरी और शैलजा की है। हम दोनों के नाम इसमें बदले हुए हैं। शैलजा मेरी मौसी की लड़की है। शैलजा मुझसे चार साल बड़ी है। शैलजा की अब शादी हो गई है।

अब मैं अपनी कहानी लिखता हूं जो मेरे साथ 2009 साल में हुई थी। मेरी एक मौसी है उनकी एक हॉट बेटी है जिसका नाम शैलजा है और उमर अभी 29 की है।
हम हमेशा से ही खुल के बात किया करते थे और मै सोचता था कि कब मुझे उसको हाथ लगाने का मौका मिल जाये। उसका साइज़ 30-24-32 का होगा। मैं बचपन से ही उसे पसंद करता था। मै उसको चोदना चाहता था।

और वो दिन आ ही गया। कहते है ना भगवान के घर में देर है अंधेर नहीं। उस दिन वो उसके कॉलेज से मेरे घर आई थी। वो बचपन से ही रात को मेरे साथ ही सोती थी। उस दिन भी वो मेरे ही साथ सोई थी। घर के सारे लोग सो चुके थे।

लेकिन मैं उसकी वजह से सो नही पा रहा था। मैं उसको चोदना चाहता था। मैंने उसके पहले कभी चुदाई नही की थी। मुझे बहुत डर लग रहा था।

आप ये कहानी मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !

मुझे पता था की वो सो चुकीं है तो मैंने धीरे से उसका हाथ पकड़ लिया और उसकी उँगलियाँ धीरे धीरे चूसने लगा। वो थोडा हिली तो मैं रुक गया। और थोड़ी देर बाद मैं वापस उसका हाथ चाटने लगा। उसके मम्मे धीरे धीरे दबाने लगा।
मैं पहली बार किसी लड़की के मम्मे दबा रहा था। मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और डर भी लग रहा था की वो घर में किसी को बता ना दे क्योंकि मैं उसका छोटा भाई जो था।

मैं सोच रहा था की वो सो चुकी है लेकिन वो जाग रही थी। उसने मेरा हाथ पकड़ा तो मै डर गया। उसके बाद जो हुआ जिसका मुझे यकीन ही नही हो रहा था। उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने मम्मों पर रख दिया और मुझे किस करने लगी।

मैं भी उसे पागलों की तरह चूमने लगा और उसके मम्मे दबाने लगा। फिर मैंने उसका हाथ पकड़ कर मेरे लौड़े पर रख दिया तो वो मेरा लौड़ा दबाने लगी।
10-15 मिनट की चुम्मा छाती के बाद वो मेरे कपड़े उतारने लगी। अब मैं बिल्कुल नंगा था फिर मैने भी उसके कपड़े उतारने लगा लेकिन वो मना करने लगी।

लेकिन मेरे ज़ोर देने पर उसने अपनी नाइट गाउन उपर कर दिया और अपनी ब्रा भी निकल दी। मैं उसके मम्मे चूसने लगा, मै जिंदगी मे पहली बार मम्मे चूस रहा था।
उसके मम्मे एकदम नर्म थे। मुझे बहोत मज़ा आ रहा था लेकिन वो कुछ भी आवाज़े निकाल नही रही थी जैसा की हर स्टोरी मे होता है।

उसके बाद उसने मुझे अपनी चूत चाटने के लिए कहा तो मैं उसकी चूत चाटने लगा। मुझे उसका स्वाद बिल्कुल भी अच्छा नही लगा फिर मैं चाट रहा था फिर कुछ मिनट बाद उसने अपना पानी छोड़ा तो अब उसकी मेरा लंड चूसने की बारी थी लेकिन उसने नही चूसा।

Comments

Scroll To Top