मेरी निशा के साथ यादगार पल- 1

(Meri Nisha Ke Saath Yaadgar Pal- 1)

This story is part of a series:

किसी महफ़िल में अचानक से किसी को देखकर मन के तार डोल जाए वैसी desi sex kahani आप दोस्तों के बीच जरुर हुई होगी और मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ जिससे मैं डोल गया..

मेरी सेक्स स्टोरी के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार।

मेरा नाम लव राज शर्मा है, मैं रायपुर छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूँ। मेरा कद 5’ 8” है और मेरा लिंग का नाप 7″ है। मेरी उम्र 29 वर्ष है, मेरी शादी हुए लगभग 4 वर्ष हो गया है।

मैंने मेरी सेक्स स्टोरी की सभी कहानियाँ पढ़ी हैं। आज मैं आप सभी के लिए अपनी पहली और सच्ची कहानी लेकर आया हूँ, आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी पसंद आएगी।

बात करीब 1 साल पुरानी है। उस समय मैं एक गजल के प्रोग्राम में गजल सुनने गया था। चूँकि मैं गजल का शौक रखता हूँ, तो कुछ कलाकारों से मेरी अच्छी जान पहचान है।
मैं अपने कलाकार मित्र के साथ सामने की सीट में बैठकर बात कर रहा था तभी वहाँ एक 25 साल की लड़की ने प्रवेश किया और मेरे कलाकार मित्र के साथ बातें करने लगी।

तभी मेरे कलाकार मित्र ने उस लड़की के साथ मेरा भी परिचय कराया। उस लड़की ने मेरा अभिवादन कर अपना भी परिचय दिया।
‘हैलो….मेरा नाम निशा जैन है..।’ मैंने भी ‘हैलो..’ बोलकर कहा जी मेरा नाम लव राज शर्मा है। फिर हम दोनों बातें करने लगे।

वो दिखने में एकदम खूबसूरत अप्सरा सी थी, सारे लोग नज़रें चुराकर उसे ही देख रहा है, जब वो मटक-मटक कर चलती थी तो हर कोई उस पर फ़िदा हो जा रहा था।
उसका फिगर 34-30-36 रहा होगा। मैं भी उसे देखता तो मैं उसे देखता ही रह जाता था और मैं मन ही मन भी उसे पसन्द और प्यार करने लगा था।

पर उस समय उससे सिर्फ दोस्ती को पक्की बनाने में समझदारी समझी अपने दिल की बात दिल में ही कुछ दिनों के लिए दबा ली।
शायद भगवान को कुछ और मंजूर था उस दिन गज़ल प्रोग्राम ख़त्म होने के बाद मैं घर जाने को निकला तभी निशा मेरे पास आकर बातें करते करते हम दोनों ने मोबाइल नंबर एक्सचेंग किया।

और बातों बातों में उसने अपने घर का एड्रेस भी दे दिया। दूसरे दिन मोबाइल की घंटी से मेरी नींद खुली मैंने देखा की निशा का फोन था और वो मुझे अपने घर आने का निमंत्रण दे रही थी और छोटे बच्चों की तरह घर आने के लिए जिद्द करने लगी मैंने भी हां में हामी भर दी।

उसके बताये समय में मैं उसके घर पहुँच गया। निशा ने बड़े ख़ुशी से मेरा स्वागत किया मुझे बैठने के बाद मेरे लिये चाय बना के ले आयी। चाय पीते पीते उसने मुझसे बताया की उसने आज मेरे आने की ख़ुशी में मेरे लिए नया टी कप लेकर आयी है उस टी कप में I Love You लिखा था।

मैं थोडा सा घबरा गया लेकिन फिर भी उससे नार्मल बात करता रहा। बातों बातों में निशा ने बताया की उसके और उसके पति के बीच सम्बन्ध अच्छे नहीं है, कई समय से उनके बीच कोई सम्बन्ध भी नहीं है।

क्योकि ये शादी निशा के घर वालो ने उसके मर्ज़ी के बगैर किसी ज्यादा उम्र वाले आदमी से कर दी थी और उसका 1 छोटा लड़का भी था जो निशा के पहले पति से था।
निशा के पहले पति की मौत एक सड़क दुर्घटना में हो चुकी थी और दूसरे पति में उसे कोई रूचि नहीं थी। वे दोनों केवल नाम के पति पत्नी बनकर जिंदगी गुजार रहे थे।

Comments

Scroll To Top