पानीपुरी वाली की चुदाई बारिश में

7 min read

कमला तो बिल्कुल ही कमाल थी! यह मैंने उसकी चुदाई करके जाना कि वो कितनी मस्त थी! Desi Sex kahani में आज आपको पेश है कमला पानीपुरी वाली की दिलखोल चूत चुदाई..

कमला का मचलता जिस्म

कहानी शुरू करने से पहले, मैं पानीपुरी वाली भाभी की बारे में बता दूँ! उनका नाम कमला है और उनकी फिगर के क्या कहने!

उनके 36 के चूचे और उनकी 38 की गांड मज़ा आ जाता है! उनकी उमर 32 की है और उनका एक 8 साल का लड़का है, लेकिन आज भी चूचे उतने ही टाइट!

हाँ! उनका रंग थोड़ा साँवला है,जो कि मुझे बहुत पसंद है!

अब मैं कहानी पर आता हूँ! दोस्तो, मेरे कमला से मुलाक़ात उसकी पानीपुरी की दुकान पर हुई थी!

जो सूरत में बहुत प्रसिद्ध था और मैं वहाँ का हमेशा का ग्राहक था। मैं उसकी दुकान पर लगभग रोज जाता था।

रोज जाने की वजह से मुझे सब जानने लगे थे और उसका पति मुकेश जो काफ़ी पतला दुबला था!

कमला की बातों में मादकता

वो हमें पानीपुरी खिलाता था और कमला पीछे बैठे बैठे मुझे चुपके से देखती थी। धीरे धीरे! हमारी बात चित चालू हुई।

मैं उनके साथ मज़ाक कर लेता था। वो हमेशा सज धज कर ही रहती थी! जैसे किसी को लगता ही नहीं वो पानीपुरी वाली की बीवी है।

घर में अकेले होने के कारण! वो अपने पति का हाथ बटाने उसकी दुकान पर आ जाती थी। यह बात बारिश की समय की समय की है!

मैं रोजाना की तरह रात को उसकी दुकान पर गया और पानीपुरी खा कर निकल रहा था। तब तक मुकेश ने पीछे से आवाज़ दी।

उसने बोला- साहब! क्या आप कमला को घर छोड़ देंगे, उसे घर जाना है! क्योंकि! उसका घर रास्ते में ही पड़ता था।

कमला की चूचियों को छूने का मौका

मैंने हाँ! बोल दी, और वो मेरे बाइक पर बैठ गई और हम निकल पड़े! उस दिन! वो थोड़ा ज्यादा ही हॉट लग रही थी और मौसम भी मस्त था।

उसके 36 की चूचे मेरे पीठ को छू रहे थे! मैंने भी जान बूझ कर ब्रेक लगाना शुरू कर दिया।

वो मेरे ऊपर गिर रही थी और उसकी चूचियाँ छू रहे थे मुझे और मेरा लण्ड तन गया था!

थोड़ा आगे जाने के बाद अचानक! तेज बारिश चालू हो गई लेकिन मैंने गाड़ी रोकी नही और हम चलते गए!

हम दोनों पूरे गीले हो गए थे और ठण्ड लग रही थी उसे! और कमला ने मुझे अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया!

कमला के हाथों लण्ड छूने से हलचल

कभी कभी! वो अपना हाथ मेरे खड़े लण्ड तक ले जाती! अब तो मेरे मन में उसे चोदने की हलचल थी!

हम घर पहुँचे और कमला ने मुझे अंदर आने को कहा, क्योंकि बारिश बहुत तेज थी तो मैं भी अन्दर चला गया!

उसका घर बहुत अच्छा तो नहीं था लेकिन ठीक था! उसने मुझे एक तौलिया दिया और अपना एक पायजामा जैसा, जो मैं पहन सकूँ!

वो रूम में चली गई और कपड़े बदलने लगी! मैं वहीँ हॉल में ही कपड़े खोल कर बदन पूछने लगा!

कमला का मुझे चुपके से झाँकना

मैंने गौर किया! उसका कमरा थोड़ा सा खुला है! और कोई अन्दर से देख रहा है मुझे! मैंने भी नाटक किया और अपने मोटे लण्ड को हाथ से रगड़ने लगा!

थोड़ी देर में! वो भी कपड़े पहन कर बाहर आ गई थी और मैंने भी बदल लिया था! उसने एक पतली सी नाईटी पहनी थी!

उसके बड़े चूचे हवा में झूम रहे थे! जब वो चल रही थी तो उसकी गांड हिल रहे थे! कमला ने मुझे चाय के लिए पूछा, और वो किचन में चाय बनाने चली गई!

वो जब मुझे चाय देने की लिए झुकी! उसकी दोनों चूचियाँ नाईटी की अन्दर हवा में उछल रहे थे!

यह देख कर मेरा लण्ड और तन गया! जो की साफ साफ पाजामे में दिख रहा था!

चूचियों का झलक से लण्ड खड़ा

मेरे नज़र उसके चूचे पर ही थे! जिसके चूचक बाहर निकल रहे थे! मैंने चाय पीते समय चाय गिराने का नाटक किया, और चाय अपनी उपर गिरा दी!

वो झट से दौड़कर मेरे पास आई और तौलिए से मेरे बदन को पोछने लगी, कभी मेरे खड़े लण्ड! को तो कभी मेरे छाती को!

ऐसा करते समय! उसके चूचे मेरे बदन को छू रहे थे और मैं उत्तेजित हो रहा था। मैंने अचानक से! उसके चूचे पकड़ लिए।

उसने मेरे देखा और बोला- यह आप क्या कर रहे हो?

मैंने भी बोल दिया- कमला मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ! तुम बहुत मस्त हो! मैं तुम्हे चोदना चाहता हूँ, और मुझे पता है! मुकेश तुम्हें खुश नहीं कर सकता, जितना मैं कर सकता हूँ!

गुदगुद चूचियों को छूने का एहसास

मैंने उसके चूचे पकड़ कर दबाने लगा और चूमने लगा। वो खुद को छुड़ाने की कोशिश कर रहा था, पर मैंने उसकी एक नहीं सुनी।

थोड़ी देर में वो भी गरम हो गई, और उसने मेरा लण्ड पकड़ लिया!

मैंने उसकी नाईटी उतार दी और भूखे शेर की तरह उसके चूचे दबाने लगा और उसकी चूत में उंगली कर रहा था!

उसके चूत पर थोड़े थोड़े बाल थे! उसकी चूत गीली हो चुकी थी! वो मेरे खड़े लण्ड को उपर नीचे कर रहे थी!

लण्ड चूस पूरे वीर्य को पिया

उसने मेरे लण्ड को चूसना शुरू किया! छोटे बच्चों की तरह वो मेरे लण्ड को चूस रही थी, और थोड़ी देर में मेरा माल निकले वाला था! वो पूरा वीर्य पी गई!

मैंने उसकी चूत चाटना चालू किया! दोस्तो, मैं काली चूत का दीवाना हूँ! काली चूत में लाल चूत हाय! हाय! जी करता है कच्चा चबा जाऊँ पूरी उसकी चूत!

मैं उसकी चूत पागलों की तरह चाट रहा था और काट भी रहा था! वो छटपटा रही थी और ओह! शश! उफ्फ्फ! की आवाजें निकाल रही थी!

इतनी देर में! उसने मेरा पूरा पैर अपने पैरों से लड़ा दिया, और मेरे मुँह में वो झड़ गई! उसका पानी बहुत ही मजेदार था! मज़ा आ गया! वो काफ़ी खुश थी!

उसने मेरे लण्ड को चूस कर गीला किया! और मैंने उसकी दोनों टाँगे चौड़ी की और उसके चूत पर अपना लण्ड रगड़ने लगा!

लण्ड की भूखी चूत चुदवाने को बेताब

वो पागल हो रही थी! डाल दे! अब नहीं रहा जाता! फाड़ दे मेरी चूत! मुकेश का लण्ड काफ़ी छोटा है! फाड़ दे मेरी चूत जल्दी डाल!

मैंने उसकी चूत में एक झटके में अपना पूरा 6” लम्बा और 2′ 5” मोटा लण्ड डाल दिया! उसकी मुँह से ज़ोर की आअ! हह! निकलने लगी।

उसकी चूत थोड़ी टाइट थी अब मैंने अपनी गति बढ़ाई और उसे चोद रहा था सके हॉल में आअ! हह! उफ्फ्फ!

वो मुझे गाली दे कर बोल रही थी- फाड़ दे मेरी चूत! रांड बना दे! मुझे उस मुकेश की! इस बीच वो 2 बार झड़ चुकी थी!

उसकी चूत से पानी निकल उसकी गांड तक बह रहा था! मैंने उसे अपनी गोद में बिठाया, और उसे हवा में उछाल उछाल कर चोदने लगा!

चूत को चोद बच्चेदानी तक झटके

वो चिल्ला रही थी और मैं उतनी ही तेज उसे झटके दे रहा था! उसके बच्चेदानी तक झटके मिल रही थी! और दर्द से चिल्ला रही थी!

मेरा माल निकालने वाला था! उसने बोला- डाल दे अन्दर जो होगा देखा जाएगा! फिर मैंने अपनी पिचकारी उसकी चूत में ही छोड़ दी!

उसको गोद में लेकर बैठ गया। उसके पति के आने का टाइम हो गया था और बेटा भी अपने ट्यूशन से आने वाला था!

उसने मेरे लण्ड को अपनी जीभ से चाट कर साफ किया और अपनी चूत पोछी। हमने कपड़े पहने और जाने लगा। वो काफ़ी खुश थी!

उसने मेरे से पूछा- दुबारा कब चोदोगे मुझे?

मैंने उसे कल का वादा किया! और बोला- कल गांड भी मारूँगा! तैयार रहना।

वो खुश हो गई और मैंने उसे 2 मिनट होंठों पर चूमा और निकल गया, और मैं उसे अक्सर चोदता हूँ! जब हमें मौका मिलता है!

एक बार तो मैंने उसे सिनेमा हॉल में भी चोदा था! दोस्तो, कैसी लगी मेरे कहानी? रिप्लाइ ज़रूर करना!

मुझे मेल करे। [email protected] स्पेशली काली चूत वाली…भाभियो!!

कमला के भीगे बदन में चूचियों को करीब से देख मेरा शैतान जाग उठा और मैं उसकी चूचियों को हाथ में पकड़ मसलने लगा तो उसने थोड़ा विरोध किया पर बाद में उत्तेजित होकर मेरा साथ देने लगी और मेरे लण्ड को मुँह में लेकर चूसने लगी और मेरा सारा वीर्य चूसकर पी गई और फिर मैंने Desi Sex kahani के इस कड़ी में कमला की धक्कापेल चुदाई कर डाली..

Written by

akash

Leave a Reply