सहेली का भैया, मेरा सैया

5 min read

Hindi Sex Stories Me Aaj Second Year Ki Ek Student Ki Sheel Bhang Ki Kahani Usi Ki Jubani…

बात उन दिनो की है, जब मैं सेकेंड ईयर की स्टूडेंट थी..

मेरे पेरेंट्स, दोनों जॉब करते हैं और इस वजह से मैं अक्सर घर पर अकेली ही होती हूँ..

कॉलेज के दिनो में, अक्सर मैं और मेरी फ्रेंड काव्या, एक साथ पढ़ाई करते थे.

वो अक्सर, मेरे घर पर आ जाती थी..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

काव्या का एक बड़ा भाई था – कपिल, जो अक्सर उसको ड्रॉप करने आता था…

जिस तरह, वो मेरी तरफ देखता था, मैं समझ रही थी के वो मेरी तरफ आकर्षित है..

मैं घर पर हमेशा शॉर्ट्स और टी – शर्ट्स पहनती हूँ और कपिल की नज़रें, हमेशा मेरी चिकनी टाँगों को देखती रहती थी..

हमने कभी बात नहीं की थी और वो बाहर से ही काव्या को, ड्रॉप कर के चला जाता था.

एक दिन परीक्षा से पहले, मुझे एक बुक की ज़रूरत थी इसलिए मैंने, काव्या को कॉल किया और बुक देने के लिए कहा..

काव्या पढ़ाई कर रही थी इस लिए उसने कपिल को बुक दे कर भेज दिया.

डोर बेल बजी और जब मैंने दरवाज़ा खोला तो सामने कपिल खड़ा था.

कुछ पल, हम एक दूसरे की तरफ देखते रहे.

मैंने बुक के लिए, “धन्यवाद” कहा.

कपिल, मुझ से परीक्षा की तैयारी के बारे में पूछने लगा.

मैंने उसे अंदर आने के लिए कहा और वो झट से मान गया.

मुझे थोड़ी हिचकिचाहट हो रही थी क्योंकि मैं घर पर अकेली थी.

मैंने कपिल को ड्रॉयिंग रूम में बिठाया और पानी लेने के लिए, किचन में आई.

पानी पीने के बाद, कपिल ने कहा के मैं चलता हूँ… तुम पढ़ाई करो…

उसने मुझे नीचे से ऊपर तक देखा और उस की नज़र, मेरे चेहरे पर आ कर रुकी.

कपिल जाने लगा और तभी मूड के बोला – अगर तुम्हे स्टडी में कोई हेल्प चाहिए तो मैं रुक सकता हूँ…

मैं समझ गई के उसका मन, मेरे लेग्स और बूब्स पे अटक गया है..

मैंने कहा – ठीक है, तुम मेरी पढ़ाई में मदद कर दो…

मैं कपिल को, अपने रूम में ले आई.

मैं “वर्जिन” थी और कभी किसी लड़के को टच भी नहीं किया था, इसलिए मैं थोड़ा डर रही थी..

कपिल, मेरे बेड पर बैठ गया और मेरी बुक्स देखने लगा, फिर वो जुते उतार कर आराम से ऊपर बैठ गया.

मैं भी उस की प्रेज़ेन्स से थोड़ी कम्फर्टेबल हो गई और बेड पर बैठ गई..

कपिल पेन उठाने लगा और उसका हाथ, मेरे जाँघो से टच हुआ.

मेरी सारी बॉडी में एक कंपन सा हुआ और मुझे उस का टच अच्छा लगा.

मैंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दिया, इसे देख कर कपिल मेरे और करीब आ गया और मेरी जाँघो को टच करने लगा..

उस ने कहा – क्या तुम हमेशा, ऐसे ही कपड़े पहनती हो…

मैं शरमाई और मैंने कहा – हाँ…

कपिल मेरे और करीब हो गया और उसके दोनों हाथ, अब मेरी पैर और जाँघो को सहलाने लगे.

उसने कहा – तुम्हारे पैर बहुत सुंदर है… मैं हमेशा इन्हे देखता रहता हूँ…

ये सुन कर, मैं थोड़ा पीछे को हुई.

कपिल, फिर मेरे पास आ गया और बोला – क्या मेरे पास आना नहीं चाहती…

मैं चुप थी..

कपिल, मेरे लिप्स को टच करने लगा और उसने मुझसे कहा – क्या तुम ने कभी किस किया है…

मैंने “ना” में सिर हिलाया और उसने अपने लिप्स, मेरे लिप्स पे रख दिए.

मुझे किस करना बहुत अच्छा लगा और मैं पिघलने लगी..

कपिल ने मुझे बाहों में जकड लिया और बेड पर लिटा दिया.

उसके हाथ, मेरे शॉर्ट्स में से होते हुए मेरी चूत तक पहुँच गये और वो मेरी चूत को सहलाने लगा.

मैं तो जेसे सब भूल गई और उसकी बाहों में पिघलने लगी.

कपिल ने मेरे कपड़े उतार दिए और अपनी पेंट भी उतार दी.

इससे पहले की मैं कुछ समझ पाती, उसने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया.

मुझे एकदम से बहुत दर्द हुआ और मेरी चीख निकल गई.

मुझे चुप करने के लिए, कपिल मुझे होंठों पर किस करने लगा और साथ साथ मे मुझे आहिस्ता – आहिस्ता चोद्ने लगा.

मुझे भी अच्छा लगने लगा और मैं भी उसे किस करने लगी.

हमने फ्रेंच किस की.

कपिल ने पूछा – क्या तुम एंजाय कर रही हो… क्या तुम्हे अच्छा लगा, मेरा चोद्ना…

उसने मेरे दूध दबाने शुरू कर दिए और बोला – मैं कब से तुम्हे चोद्ना चाहता था… तेरे दूध, जांघे, पैर मुझे बहुत सेक्सी लगते है… मैं हमेशा तुम्हे “नंगा” देखना चाहता था… तुम बहुत सुंदर हो और तुम्हारी चूत, बहुत गरम है… मुझे मज़ा आ गया…

मैंने ऐसी बातें कभी नहीं सुनी थी और यह मेरा “पहला सेक्स एक्सपीरियेन्स” था.

कपिल, अपना लण्ड कभी मेरी चूत में डाल देता कभी निकाल लेता, मैं तो पागल होने लगी और उसकी पीठ पर नाख़ून मारने लगी..

कपिल और भी उत्तेजित हो गया और मुझे ज़ोर – ज़ोर से चोद्ने लगा..

वो बार – बार बोल रहा था की मैंने तेरी चूत लेनी है… मैंने तेरी चूत लेनी है…

वो इतने ज़ोर – ज़ोर से चोद्ने लगा की मेरा तो बूरा हाल हो गया.

कपिल ने मेरे बाल खींचे और मेरे ऊपर बैठ कर, मुझे चोद्ने लगा.

बस वो यही कह रहा था – मैं रोज़ तेरी गरम चूत लूँगा…

फिर एक दम से, उस का छूट गया.

वो थक कर, मेरे ऊपर ही लेट गया.

कुछ देर बाद, उसने मेरे बालो में हाथ फेरा और बोला के उसे बहुत मज़ा आया और मैं बहुत सेक्सी हूँ.

मैं बहुत थक गई थी.

हम लोग ऐसे ही कुछ देर नंगे लेटे रहे, फिर मैंने उठ कर कपड़े पहने और मैं रूम से बाहर चली गई.

कपिल कपड़े पहन कर मेरे पीछे आया और मुझे गले लगा कर के बोला – तुम कमाल की हो…

मैंने स्माइल किया और पूछा के क्या तुम कुछ देर रुकना चाहोगे…

कपिल ने कहा “हाँ” और अगर तुम चाहो, मैं तुम्हे एक बार और चोद सकता हूँ… – कपिल ने एक आँख, दबा कर कहा..

मेरा तो बुरा हाल हो गया था.

उस दिन के बाद से कपिल, रोज़ घर आने लगा और हम रोज़ सेक्स करने लगे.

कई बार, हम एक साथ पॉर्न फिल्म्स देखते और कई बार वो घंटो मुझे चोद्ता रहता..

Hindi Sex Stories Me Roz Nayi Kahaniya Padhte Rahe Aur Msst Rahe…

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply