गाँव की लड़की को चोद कर माँ बनाया

(Gaaon Ki Ladki Ko Chod Kar Maa Banaya)

बच्चे की खातिर एक लड़की मुझ अजनबी से चुदने से जरा भी नहीं झिझकी और meri chudai से वह एक नहीं चार बच्चों की माँ बन गई वह भी मेरे जबरदस्त लंड के वजह से..

बात एक सर्दी के मौसम की थी। जब मैं अपने मित्र से बात कर रहा था, तो बातों बातों में एक बात आयी की यार ओम एक काम हे तेरे से, मैंने ने कहा की क्या हुआ भाई बोलो..

उस ने कहा की यार मेरे गाँव में एक लड़की है जिस को बच्चा नही हो रहा है पता नही उसकी पति में कोई प्रॉब्लम हो, जो उसने मुझे बोला की किसे लड़के के साथ सेक्स कर के देखा है की मेरे में गड़बड़ है य मेरे पति में।

तो मेरे दोस्त ने मुझे नंबर दिए उस के फिर मैंने अपने फ़ोन से उसे कॉल लगाया, फिर वो बोली की हेलो कौन बोल रहे हो।
मैंने अपने दोस्त का परिचय देते हए कहा की में ओम बोल रहा हूँ, आप को मेरी जरुरत है तो उसने बोला की हाँ पर मैं आप को जानती नही हूँ, तो मैंने बोला की आप जगदीश को जानते हो।

दोस्तों में आपको अपने फ्रेंड का नाम बताना भूल गया, उसका नाम है जगदीश वो मेरा अच्छा दोस्त है फिर लड़की का मैंने नाम पूछा।
फिर उसने अपना नाम बताया की मेरा नाम है प्रिया जो की बदला हुआ नाम है उसने मुझे मिलने को बोला फिर मैंने उससे बात कर के उसके गाँव में रात को बुलाया।

वो आ गई दोस्तों गाँव में रात को रोड लाइट लाइट नही चलती है, मैंने बाइक खड़ी करी और उसे मोबाइल की टोर्च चला कर इशारा किया वो आ गई मेरे पास और मैंने इधर उधर देखा की कोई आ तो नही रहा है, देखा तो कोई नही आ रहा हे।

मेने प्रिया से बोला की चलो आगे, वो आगे चली और मैं उसके पीछे एक स्कूल के पास जाकर खड़ी हो गई। फिर मैं 2 मिनट की देरी से वहाँ पर पहुंचा फिर स्कूल के अंदर जाकर बरामदे में फर्श को साफ किया और मैंने प्रिया से बात की फिर वही बात उसने की जो मुझे जगदीश ने बताई थी।

फिर कहानी पर आते हैं, मैंने प्रिया का बदन मोबाइल की टॉर्च मे देखा की 28-32-28 बदन था, क्या माल लग रही थी यार। मैं आप को बता दूं गाँव की लडकियाँ घाघर चोली पहनती है और मैंने उसे किस किया और उसके बूब्स दबाये और मैंने उसे कहा की कोई आ जाएगा।

मैंने उसे ज्यादा कुछ न किये हुए उसे बरामदे में सोने के लिए बोला तो वो सो गयी और मैंने उस का घाघर ऊपर कर के उस की अन्डरवियर उतार दी, फिर मैंने अपनी पैंट और अपनी अंडरवियर उतार दी।

उसकी चूत क्या लग रही थी यार एक भी बाल नही था। मैंने ज्यादा देर न करते हुए उसकी टांगो को ऊपर करके अपने पप्पू को उस की चूत पर लंड के सुपारे को रखकर एक जोर से धक्का मारा और उसके मुँह से आवाज आयी ‘ऊऊऊऊ या याया ऊईई..’ मैंने एक न सुनी और दूसरे धक्के में पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया।

फिर एक दो शॉट स्लो में लगाते हुए उसे भी मजा आने लगा फिर उसने बोला की ओम मुझे माँ बनना है आज मुझे दिल खोल कर चोदो। फिर मैंने अपनी गति बढ़ा दी फिर उसे भी मजजा आने लगा, वो बोलती रही की और जोर से चोदो मेरी जान मजा आ रहा है। मेरा पति भी नही चोदता है ऐसा तो जो आप मुझे चोद रहे हो।
वो झड़ने वाली थी उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने भी अपना पानी उसकी चूत में छोड़ दिया 1 मिनट बाद मुझे उस ने जोर से पकड़ लिया और मैं उसके ऊपर सो गया।
फिर 5 मिनट बाद हम दोनों ने अपने अपने कपडे पहने और उसने मुझे एक किस किया और बोला की आप से मिल कर अच्छा लगा।

दोस्तों में उसे 4 से 5 बार चोद चुका हूँ जब भी मौका मिलता उसे चोदता हूँ, आज वो एक 4 साल की बच्चे की माँ है।

दोस्तों कैसी लगी मेरी कहानी मेरे पास और भी बहुत कहानियाँ हैं आप बीती जो मैं आपको सुनाऊंगा आप मुझे ईमेल कर के बताएं की आपको मेरी कहानी कैसी लगी।
मेरी ईमेल id है [email protected] मुझे आप की ईमेल का इंतजार है।
दोस्तों जल्दी मुझे अपना ईमेल करो मैं आप को अपनी कहानी लिखने पर मजबूर कर दो।

दोस्तों जब मेरे दोस्त ने उस लड़की के बच्चे न होने के उपाय के लीये एक गैर से चुदना बता कर मुझे इस काम के लीये चुना तो मैंने meri chudai से उस लड़की के सूने गोद को भरने में कोई कसर नहीं छोड़ी.. आप दोस्तों को कैसी लगी मेरी यह परोपकार खुले मुँह से कमेंट्स भरे विचार भेजें..

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top