42 साल की नौकरानी- 1

5 min read

घर में कामवाली के साथ चुदाई के मजे लेने वाली desi kahani के कहानीयों में आप दोस्तों ने काफी कहानी पढ़ी होंगी तो मेरी यह कहानी को जरुर पढ़ें और मजे लें..

मैं रमेश 50 साल का हट्टा कट्टा आदमी हूँ। दिल्ली में रहता हूँ। बात एक साल पहले की है जब मेरी बीवी सीमा की बैक में प्रॉब्लम थी तो वो 6 महीने के लिए बेडरेस्ट पर थी। उसकी देखभाल के लिए मैंने एक नौकरानी रखी थी।

ममता, उसकी उम्र कुछ 40-42 होगी उसका फिगर – 36-36-38 ओह माय गॉड। वो दिखने में पूरी माल थी 35 साल की लगती थी। मैं आपको ज्यादा बोर न करते हुए सीधे कहानी पर आता हूँ।

वो पंजाबी है और आप तो जानते ही है पंजाबन का शरीर कैसा भरा भरा सा होता है। जब वो पहले दिन आई तो मैं उसे काम समझाने लगा। मैं बाकी बातें बातचीत के द्वारा बताऊंगा।

मै- ममता खाना बनाना कपड़े धोना सफाई करना ये सब आता है न? ममता- जी साहब।
मैं- ठीक है। उसके अलावा तुम्हें रोज़ सीमा को नहलाना होगा, टाइम टाइम पर दवाई खिलानी होगी उसके खाने का ध्यान रखना होगा। और हाँ उसे फ्रेश होने भी नही जा सकती तो उसमें भी तुम्हे हैल्प करनी होगी।

ममता- फ्रेश होना मतलब। मैं- अरे पेशाब करने, टॉयलेट करने। चिंता मत करो मैं ये सारे काम तुम्हें कर के दिखा दूंगा एक बार। अभी जाओ गरम पानी तैयार कर दो सीमा को नहला देते हैं।

ममता- जी साहब अभी लायी (ममता पानी गरम करने जाती है और मैं सीमा को उठाता हूँ और नौकरानी के बारे में बताता हूँ )

सीमा- तुम कितने परेशान हो गये हो मेरे कारण। मैं- अरे अब ममता आ गई है तो सारा काम वो ही कर देगी। चिंता मत करो (तभी ममता पानी लेकर आ जाती है ) (सीमा सिर्फ ब्लाउज एंड पेटीकोट ही पहनती है क्यूँ की साड़ी तो मुझे बांधना आती नहीं है)

मैं- लाओ पानी। सबसे पहले ये सॉफ्ट टॉवेल गरम पानी में भिगोना फिर इसी टॉवेल से सीमा के शरीर की सफाई करना। आज मैं कर देता हूँ देख लो। ममता- जी।

(मैं सीमा का ब्लाउज खोलता हूँ, मैं तो बताना भूल गया सीमा का फिगर – 34-34-36। और उसकी चूची को दोनों हाथो से सहलाने लगता हूँ और गरम पानी वाला टॉवेल लेता हूँ और फेस साफ करता हूँ फिर गर्दन। और फिर उसी टॉवल को उसकी चुचियो पर फेरता हूँ ऐसे में ऊपर वाला हिस्सा साफ कर देता हूँ। मैं देखता हूँ की ममता थोड़ी उत्साहित सी हो गयी है)

मैं- ममता तुम कुछ देर के लिए अपना मुँह उधर कर लो। (मुझे पता था वो तिरछी नजर से देखेगी ) ममता- जी…। (मैं फिर सीमा के बूब्स चूसने लगा मुहूँहूँहूँहू अहहहाहह्ह )

सीमा (धीरे से )- क्या कर रह हो वो देख लेगी। मैं- नहीं देखेगी। (वो सब देख रही थी चुप चुप कर। मैं 5 मिनट तक उसके बूब्स चूसता रहा )
मैं- हाँ पलट जाओ। ममता- साहब मेमसाब आवाज क्यूँ कर थी।

मैं- मैं मेमसाब की मालिश कर रहा था तो उसे थोडा दर्द हो रहा था इसलिए ममता- ठीक है।
सीमा- तुम चिंता मत करो ममता मैं ज्यादा परेशान नही करूंगी तुम्हें।

मैं- ममता अब तुम ब्लाउज पहना दो सीमा को। (ममता सीमा को ब्लाउज पहनाने लगी वो बेड पर झुककर पहना रही थी तो उसके चूचे लटक रहे थे, में उन्हें घूरे जा रहा था तभी सीमा ने मुझे बीच में टोका )

सीमा- रमेश, बाकी की सफाई भी करनी है मुझे ठण्ड लग रही है जल्दी करो। मैं- ठीक है।
(मैं अब सीमा का पेटीकोट निकलने लगा) ममता- साहब ये क्या कर रहै हैं।

मैं- अरे नीचे वाले शरीर की सफाई भी तो करनी पड़ेगी न। ममता- ठीक है (अब सीमा नीचे से नंगी थी।)
मैं- ममता तुम सीमा के पैर और जांघें साफ कर दो मैं यहाँ (चूत के आस पास ) सफाई कर देता हूँ (वो मुस्कुराने लगी )

ममता- ठीक साहब (जो पैर साफ करती जा रही थी और देख रही थी की मैं क्या कर रहा हूँ )
(मैंने सीमा की चूत पर टॉवेल फेरा चूत की सफाई क लिए मैंने टॉवेल को एक ऊँगली में लेकर चूत के अंदर घुमाने लगा तो सीमा उत्तेजित होने लगी, मैं जोर जोर से अंदर बहार करने लगा वो आवाजे निकलने लगी )

सीमा- अहहहहह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फफ्फ्फ्फ़ उहूँह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह, प्लीज रमेश मत करो प्लीज अहहह्ह्ह्ह
मैं- अरे ये सब नहीं करूंगा तो सफाई कैसे होगी।

ममता- लाइए साहब मैं कर देती हूँ वहाँ वेसे भी रोज मुझे ही करना है। मैं- ठीक है लो।
(ममता अब चूत की सफाई करने लगी और सीमा आवाजें निकले जा रही थी)
सीमा- आहाहहह्ह्हह्ह्ह्ह रामेश्ह्ह्हह्ह्हह्ह। प्लीज ममता रुको वरना मेरा पानी निकल जायेगा।

मैं- ममता उसकी मत सुनो। डॉक्टर ने कहा है न सप्ताह में 2 -3 बार पानी निकलना चाहिए।
(ममता भी अब पूरी उत्तेजित हो चुकी थी तो उसने टॉवेल साइड में रखा वो सिर्फ ऊँगली से सीमा की चूत चोदने लगी और 5 मिनट बाद ममता झड गयी फिर हमने उसे साफ किया और उसे कपड़े पहनाये )

मैं- सीमा अब तुम आराम करो। ममता ब्रेकफास्ट बना देगी अभी और किसी चीज़ की जरूरत हो तो आवाज़ लगा देना। ममता तुम एक काम करो आज गोभी के पकौड़े बनाओ ममता के लिए।

ममता- जी साहब। आप मुझे जरा बता दो किचन में कहाँ क्या रखा है।
मैं- चलो मैं आता हूँ।

(आगे की कहानी अगले भाग में )

दोस्तों मैं अपनी बीवी की साफ़ सफाई के लीये एक कामवाली को लाया जो दिखने में पूरी मस्त माल थी और मैं उसे अपनी बीवी की साफ़ सफाई करने के तरीका को बताने के क्रम में बीवी से मस्ती किया जो उस कामवाली ने देख ली थी अब इससे आगे का हाल desi kahani के अगले भाग में लाऊंगा.. आप कहानी के लीये विचार भेजें..

Written by

सेक्स स्टोरी टेलर

Leave a Reply