पड़ोस वाली भाभी की फुदी चुदी

(Padosi Waali Bhabhi Ki Chudai )

जिस पड़ोस वाली भाभी को देखकर चोदने की सपना देखता था उसके साथ meri chudai तय हो जायेगी ये मैं कल्पना कर सकता था पर ऐसा सच में अचानक से हो गया जो संयोग ही था..

हैलो दोस्तों मैंरा नाम राज है। मैं मेरी सेक्स स्टोरी का नियमित पाठक हूँ। इसीलीये आज मैं भाभी की अनुमति से ये कहानी आप सब के साथ साझा करना चाहता हूँ।
मैं गुजरात का रहने वाला हूँ। मेरा कद 5′ 7″ है। मैं दीखने मैं काफी अच्छा हूँ। मेरे लन्ड का साइज़ 7′ 5″ है।

दोस्तों मेरे पड़ोस में एक कमाल की भाभी रहती है। उसका नाम रींकल है। वो बहुत ही खुबसुरत है। उसका फीगर 34-30-36 है। दोस्तों क्या माल लगती है वो। मैंने जब पहली बार उसको देखा तो देखता ही रह गया।

तभी मैंने सोच लिया की कुछ भी हो जाए अगले एक महीने मैं मुझे इसको कुछ भी करके चोदना है। और फिर बाथरूम में जा के उसके नाम की मुट्ठ मार ली। एक हफ्ता तो यही सोचने में निकल गया कैसे इस माल को पटाया जाए ओर चोदा जाए।

हम दोनों के घरों के संबंध अच्छे होने के कारण मुझे उसका व्हाट्सएप नंबर मिल गया। फिर मैं रोज उनके साथ बात करता औऱ उसके नाम की मुट्ठ मार लेता।

इसी तरह दुसरा हफ्ता भी निकल गया। लेकीन मुझे ज्यादा इन्तजार नही करना पडा। तीसरे हफ्ते के दुसरे दिन जब मैं कॉलेज से घर आया तो मम्मी ने बताया की रींकल भाभी के यहाँ तीन दिनों के लिए कोइ नही है तो उसने तुझे हर रोज शाम को उसके घर पर खाने को और वहीँ सोने को कहा है।

तो तू जायेगा..?’ मैंने तुरंत हाँ बोल दी।

जैसे ही शाम हुई मैं उनके घर चला गया। उसने खाना बनाया औऱ फिर हम खाना खाने बैठ गये औऱ बातें करने लगे। खाना खा के हम उसके बेडरूम में TV देखने और बातें करने लगे।

धीरे धीरे हमारी बातें सेक्स पे आ गई। तभी अचानक वो उदास हो गई। जब मैंने कारण पुछा तो उसने कहा की कुछ नही हुआ। फिर मैंरे बहुत कहने पर उसने बताया की मुझे आपके भैया खुश नही कर पाते।

मैंने कहा की आप चिंता मत कीजिए मैं आपकी मदद करुंगा। इतना सुनते ही उसने अपने गुलाब की पंखुडीयो जेसे होठ मैंरे होठो पर लगा दिए और मेरे होठो को चूसने लगी। मैं भी उसका साथ देने लगा।

यह कहानी आप मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर पढ रहे हैं !

फिर मैंने उसके बडे बडे मुम्मे दबाने लगा। फिर मैंने उसकी नाइटी खोल दी और उसने मेरा टी-शर्ट ओर लुंगी उतार दिया। अब हम दोनों अन्डरवियर में बिस्तर पर लेटे हुऐ ऐक दूसरे को चूम रहे थे। फिर मैंने उसकी ब्रा उतार दी और उसके मुम्मे को चुसने लगा। वो मेरे लंड को अन्डरवियर के उपर से ही सहलाने लगी।

अब हम दोनो की साँसें तेज़ हो गई थी। हम दोनों ही बहुत गर्म हो चुके थे। मैं उसका एक मुम्मा चूस रहा था और दुसरा मुम्मा दबा रहा था। और दुसरे हाथ से उसकी पैंटी के उपर से ही उसकी चूत में उंगली करने लगा।

अब उससे रहा नहीं जा रहा था। वो कहने लगी प्लीज राज अब और मत तडपाओ अपनी भाभी को आहहह ओहहहससस उउउफफफफ राज चोदो मुझे चोद चोद के फाड डालो मेरी चूत को ये कब से प्यासी है आज इसकी प्यास बुझा दो।

Comments

Scroll To Top