ठण्ड में मिली प्रेमिका से गर्माहट– 1

(Thand Mein Milee Premika Se Garmahat- 1)

This story is part of a series:

प्रेमिका खुद अपने प्रेमी से शादी से पहले बीवी की तरह प्यार करने बोले वैसी desi sex kahani आप दोस्तों को बहुत मज़ा देगी तो आप मेरी यह कहानी को पढ़ कर मज़ा लें..

हैलो दोस्तों यह रोमांटिक कहानी मेरी और मेरी बहुत खूबसूरत प्रेमिका आयेशा की हैं। हम दोनों एक महीने पहले नैनीताल गए थे घूमने और ये बात तभी की हैं।

पूरा दिन घूमने के बाद रात में जब हम होटल आये और सोने के लिए तैयारी करी, हम दोनों एक ही रूम में थे तभी आयशा बोली-

आयशा- आज रात मुझे अपनी बीवी समझ कर सारी रात प्यार करो। मैं यह सुन कर खुश था और सोच में पड़ गया कि क्या कहूँ। मैंने बिस्तर के लैम्प्स ऑन किए और कमरे में कुछ रोशनी कर दी।

मैंने कहा- मैंने कभी ऐसा सोचा नहीं.. पर मुझे ऐतराज़ नहीं। आयशा ने खुद को बहुत संभाला हुआ था और बहुत ही खूबसूरत दिखती थी।
मैंने कम्बल को साइड में कर दिया और पहली बार सेक्सी नजरों से आयशा को देखा। उसके मम्मे बहुत मोटे थे और मदमस्त जवानी गुलाबी.. सुनहरा चिकना शरीर.. और बहुत ही परी लगती थी।

मैंने आयशा को अपनी बाँहों में भर लिया और चूमने लगा। उसके होंठों से होंठ लगते ही शरीर में प्यार भर गया, हम बहुत देर तक एक-दूसरे को चूमते रहे।
फिर मैंने अपनी टी-शर्ट उतार दी और आयशा के कुर्ते के बटन खोल दिए। आयशा घबराने लगी। मैंने पूछा- आयशा पहले कभी किया है?

आयशा मीठी सी नशीली प्यार भरी आवाज़ में बोली- नहीं.. आज पहली बार है। उसकी आवाज़ में ऐसा नशा मैंने पहले कभी नहीं सुना था।
यह सुनते ही मैं खुश था। सो मैंने प्यार और बढ़ा दिया और आयशा के साथ और प्यार से खेल करने लगा।

मैंने कहा- आयशा डार्लिंग.. आज की रात तुम्हारी ज़िन्दगी की यादगार रात होगी। मुझे अपना पति समझो और खुद को मेरी बीवी और इस रात को सुहागरात समझो और भी अच्छा होगा।

उसके बाद मैंने आयशा के होंठों पर अपने होंठों को जमा दिया और जीभ से जीभ लगा कर चूसने लगे। आयशा शर्मा भी रही थी और मजे भी ले रही थी, वो अपनी टाँगें रगड़ रही थी।
फिर मैंने आयशा के चूचे दबाने शुरू किए आयशा के चूचे बहुत मोटे थे, उनको दबाने पर मेरा लंड कड़क से कड़क होता जा रहा था।

फिर मैं उठ कर बैठ गया और आयशा को गोदी में बिठा लिया। अपने हाथ पेट पर जमा दिए और मसलने लगा और धीरे से मैंने आयशा का कुरता उतार दिया, उसके गाल, गर्दन और कंधे.. पीछे से चूमने लगा, कंधे चूमते हुए ब्रा का स्टेप मैंने उतार दिया।

आयशा सिसकारियाँ भर रही थी। मैंने हाथ उसके चूचों पर जमा कर फिर से दबाया और आयशा ने अपना मुँह पीछे कर लिया और फिर होंठ चूमने लगे।
चूमते-चूमते मैं अपने हाथ नीचे ले गया और आयशा के पजामे का नाड़ा खोल दिया और पजामा ढीला कर दिया।

जैसे ही मैंने चूत पर हाथ रखा, आयशा शर्मा गई और मुँह फिरा लिया। मैंने उसे उल्टा लिटा दिया और उसकी कमर चाटने लगा। हाय.. क्या चिकनी कमर थी.. एकदम चिकनी मछली की जैसे, मैंने अब उसकी ब्रा के हुक खोल दिए और कमर चाटने लगा।

मेरी हर चुम्मी के साथ आयशा की सिसकारियाँ निकल रही थीं, कमरा उसकी मदमस्त ‘आहों’ से गूँज रहा था, उसकी ‘आअह.. अआहह.. आहाहह.. अहहा..’ की आवाजों से गूँज उठा। उसकी काली लम्बी घनी जुल्फें मुझे और भी नशा चढ़ा रही थी।

मैंने हाथ आयशा की छाती पर डाले और ब्रा निकाल दी, अब चूचे नंगे मेरे हाथों में थे, निप्पल सख्त हो गए थे और गर्म भी मैं अब कमर गर्दन कंधे और गाल चूम चाट रहा था। मेरा तना हुआ लौड़ा आयशा के नरम गद्देदार चूतड़ों पर लगा हुआ था।

चुदास इतनी अधिक चढ़ गई कि मेरा माल छूट गया लेकिन मैंने चूमना चाटना जारी रखा।

कहानी जारी रहेगी..
[email protected]

दोस्तों मैं जब अपनी प्रेमिका के साथ कहीं बाहर घूमने गया था तो अचानक से प्रेमिका खुद बा खुद मुझे एक बीवी की तरह प्यार करने के लिए जो मेरे लिए किसी उपहार से कम नहीं थी जिसे इस desi sex kahani के जरिये आपके बीच लाया.. आप दोस्तों को कैसी लगी मेरी यह पेशकश खुले कमेंट्स मुझे जरुर भेजें..

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top