मेरी महिला ग्राहक के संग चूत चुदाई का खेल

(Indian Sex Story: Mahila Grahak Sang Hotel Me choot Chudai)

हैलो, मैं एक कॉल-ब्वॉय हूँ। मैं अपनी एक Indian Sex Story आप सबको बताना चाहता हूँ, मज़ा लीजिये.

एक दिन एक रिचा नाम की महिला का फोन आया.. उसने मुझे एक होटल में बुलाया। अब तक होटल में किसी महिला की चुदाई करने का ये पहला अवसर था अब तक मैंने चुदासी चूतों के उनके घरों या फार्म हाउसेस में जाकर ही चोदा था।

खैर.. उसने मुझे होटल के बाहर मिलने का कहा और मैं पहुँच गया।

होटल के बाहर सड़क पर पहुँच कर मैंने उसका इन्तजार किया.. तब तक वो भी आ गई उसने मुझे फोन किया और शायद मुझे दूर से अपनी कर से मुझे देखा भी होगा।

वो एक बुरखा पहने हुए कार से निकली और मेरे नजदीक आकर बोली- मेरे पीछे आओ।

उसके बाद हम एक होटल में चले गए। उसने पहले ही होटल में रूम बुक करा रखा था।

हम अपने कमरे में गए। उसने कमरा अन्दर से बन्द किया और मुझे किस करते हुए बहुत जोर से अपनी बांहों में कस लिया। एक पल मुझे चूमने के बाद वो अपना बैग लेकर बाथरूम में चली गई। मैं बिस्तर पर बैठ गया। जब बाथरूम से वो बाहर आई तो उसने पिंक कलर की नाइट ड्रेस पहनी हुई थी।

उसने मुझसे कहा- भूवी तुम भी फ्रेश हो लो।

मैं बाथरूम में गया तो देखा कि उसके चेंज किए हुए कपड़े पड़े थे। उसने पैन्टी और ब्रा उतार दी थी।

मैं जब बाहर आया तो उसने कुछ खाने के लिए और दो बियर आर्डर की हुई थी। हम दोनों ने खाना खाया.. बियर पी। उसके बाद वो कहने लगी- आज तुम मुझे जी भर के चोदना.. मेरा पति मुझे खुश नहीं कर पाता।

ये सुन कर मेरा लंड बिल्कुल टाइट हो गया और मैने रिचा को बहुत जोर से अपनी बांहों में भर लिया। मैं उसे ज़ोर से किस करने लगा। एक हाथ से मैं उसके मम्मों को दबाने लगा। वो जैसे पागल हो गई थी। उसके मुँह से गरम साँसें आ रही थीं।

उसके बाद मैं अपने कपड़े उतारने लगा.. तो उसने कहा- रुको मैं तुम्हारे कपड़े उतारती हूँ.. तुम मेरे उतारो।

उसने मेरी शर्ट और पैन्ट उतार दी। मैंने भी उसके जिस्म की अकेली नाइट ड्रेस उतार दी। अब वो बिल्कुल नंगी मेरे सामने खड़ी थी। ये देख कर मेरा लंड अंडरवियर में फड़कने लगा।

उसने एक हाथ मेरे अंडरवियर में डाल दिया। मैं एकदम मस्त हो गया। मैं उसके एक चूचे को अपने हाथ से दबाने लगा और दूसरे हाथ से उसकी चूत को मसलने लगा। वो आवाजें निकालने लगी।

‘आहह अहह.. मुहह.. आआहह..’

यह सुन मैं उत्तेजित हो गया और उसके मम्मे को मुँह में लेकर चूसने लगा।

वाह यार.. क्या मस्त दूध थे।

वो कहने लगी- जान मेरी चूत तुम्हारा कब से इंतजार कर रही है.. इसे चाटो ना..

मैंने उसे लेटने को कहा और मेरा मुँह उसकी चूत पर ले गया और अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटने लगा। उसकी गुलाबी चूत बिल्कुल साफ थी। उसकी चूत का स्वाद अभी भी मुझे याद है। क्या मस्त चूत थी उसकी..

मैं खूब जोर से चाटने लगा। वो अब ज़ोर-ज़ोर से आवाजें निकालने लगी।

‘आअह.. ओहह.. मम्मुह.. चाटो मेरी जान.. आज पूरा रस पी जाओ मेरी चूत का.. आह..’

ये सुन कर मैं और ज़ोर से चूत चाटने लगा। उसकी गर्म सांसों से कमरा गूंजने लगा और वो एकदम से झटके खाने लगी। उसकी चूत से रसदार पानी निकलने लगा। मैं सारा पानी पी गया। इसकी बाद भी मैं करीब 20 मिनट तक और उसकी चूत को चाटता रहा था।

Comments

Scroll To Top