गरमी की दोपहर

5 min read

Meri Sex Story Par Tapti Jalti Garmi Me Aapke Liye Ek Garmi Ki Dophar Ki Kamuk Kahani…

मैं आपका ज़्यादा टाइम खराब नही करूँगा..

सीधे स्टोरी स्टार्ट होती है.

बात 2 महीने पुरानी है..

मैंने तब तक एक बार भी सेक्स नहीं किया था..

मन तो बहुत करता था पर कभी मोका नहीं मिला. तो अब स्टोरी पर आता हूँ..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

सनडे का दिन था और मैं आराम से सो रहा था की अचानक मेरे दोस्त का फोन आया की उसकी डॉक्युमेंट्स की फाइल घर रह गयी है और वो न्यू देल्ही रेलवे स्टेशन पहुँच गया है और उसे वो फाइल बहुत अर्जेंट्ली चाहिए.

तो मैं उसे देने गया..

सुबह 11 बजे मैं निकल गया था, बहुत गर्मी थी तो मैंने सोचा कार ही ले जाता हूँ..

लेकिन ट्रॅफिक मिलता इसलिए मैं बाइक से ही चला गया..

जब मैं वहां पहुंचा तो मेरा पूरा फेस पसीने से भर गया था क्यूंकी गर्मी ही इतनी थी.

फिर मैंने उसे फाइल दे दी और वो चला गया पर मेरा तो अब वापस जाने का बिल्कुल मन नही था क्यूकी गर्मी ही इतनी थी.

फिर मैंने सोचा आज तक मैंने सेक्स तो किया नहीं है तो क्यू ना जी बी रोड (वो रोड जहा पर बहुत कोठे हैं) जाया जाए.

पर ऐसे सूखे सूखे जाने में तो मज़ा नहीं आता तो मैंने पहले 2 बियर पी और फिर मैं वहां के लिए चल पड़ा.

जी बी रोड रेलवे स्टेशन क पास ही है तो मैंने बाइक वही पर खड़ी कर दी और पैदल जाने की सोची.

जब मैं वहां पहुंचा उस रोड पर पहुँचते ही, मैंने देखा जगह जगह कोठे के नंबर्स भी लिखे हैं..

फिर मैं 64 नंबर कोठे की और चल पड़ा.. वहां कोई डर नहीं है और देखा की नीचे हार्डवेर की शॉप्स थी और ऊपर कोठे थे..

गर्ल्स बाल्कनी में खड़ी होकर कस्टमर्स बुला रही थी और अट्रॅक्ट कर रही थी, फ्लाइयिंग किस दे कर..

मैं जब कोठा 64 में पहुंचा और जैसे ही सीडी पर चड़ा तो ऐसा लगा जैसे किसी गुफा में आ गया हूँ क्यूंकी वहां अंधेरा ही इतना था और पुरानी सीडी थी.

नीचे भी एक हॉल टाइप था जिसमे कुछ 40-45 उम्र की औरते बैठी थी और कस्टमर्स बुला रही थी पर मैं उन्हे इग्नोर करके सीडी पर चडने लगा…

वहां बहुत से लोग बाहर आ रहे थे और उतने ही अंदर जा रहे थे….

इट वाज़ फुल्ली क्राउडेड ..

फिर मैं दूसरे फ्लोर पर गया.. जैसे ही एंटर हुआ मैंने देखा क्या जन्नत थी..

उन्हें देख कर मेरा मूड बन गया..

फिर मैं नज़र घुमा कर एक एक रंडिया देख रहा था पसंद करने के लिए और वहां तो आप जाओगे तो रंडिया खुद ही चिपकने लगती है..

वो भी 1 नही 3-3 आकर, कोई हमारे गाल पर किस करेगी कोई हमारा लंड ऊपर से पकड़ेगी..

ऐसा होगा तो कोई भी खुद को जन्नत में फील करेगा..

मेरे साथ भी यही हुआ और मेरा तो खड़ा हो गया मेरा क्या सबका ही खड़ा हो जायगा..

फिर मैंने देखा की एक रंडी चुप चाप बैठी थी और दिखने में बहुत सुंदर लग रही थी..

उसने ज़्यादा मेक उप भी नहीं किया था और फिर भी बहुत सुंदर लग रही थी.

फिर मैंने जा कर उस से पूछा की कितने लोगी तो उसने कहा 2000.

फिर मैंने उसे 2000 दिए और वो मुझे एक स्माइल पास कर के काउंटर पर चली गयी और मुझे कहा की अपना फोन भी जमा करा दो..

मैं सोचने लगा तो उसने कहा की डरो मत, सब सेफ है यहा.

फिर मैंने फोन जमा कर दिया और उसने कहा की आप ऊपर चलो मैं 1 मिनिट में आती हूँ फिर मैं ऊपर चला गया जहा 7-8 छोटे छोटे रूम्स बने थे.

फिर 5 मिनिट बाद वो आ गई और रूम खोला और मुझे अंदर जाने को कहा और फिर खुद भी अंदर आ गई और रूम अंदर से लॉक कर दिया.

फिर वो लेट गयी और बोली – टिप नहीं दोगे…

तो मैंने कहा – बेबी सब कुछ मिलेगा वेट तो करो…

फिर मैंने कहा – तुम मेरे कपड़े उतारो और मैं तुम्हारे उतारता हूँ तो वो राज़ी हो गयी.

मैं उसके बूब्स को भी हाथ लगा रहा था.. क्या बूब्स थे उसके कसम से यार.. 38 के तो होंगे ही और गोरे, गोल बहुत सॉफ्ट.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट भी उतार दी..

उसकी चूत बिल्कुल सॉफ थी, क्लीन शेव्ड और बहुत गोरी थी.

फिर उसने मेरे कपड़े उतारने शुरू करे पहले तो टी शर्ट उतारी और फिर जीन्स और टी शर्ट उतारते ही मेरा मोटा लंड एक दम से बाहर आया और वो देख कर बोली – इतना मोटा और बड़ा.

मैंने कहा – हाँ आज यही जायगा आपकी चूत में..

वो हँसने लगी और फिर कॉंडम का पॅकेट निकाला और मेरे लंड पर पहना दिया.

फिर वो लेट गयी और मैं उसके ऊपर आ गया.

मैंने उसे एक स्मूच भी दिया और उसके बूब्स भी पिए..

तब तक मेरा लंड बिल्कुल टाइट हो चुका था फिर उसने मेरा लंड पकड़ के अपनी चूत में घुसा दिया और मुझे हग करके लेट गयी.

फिर मैं उसे चोदने लगा और धीरे धीरे करके मैं तेज़ हो गया और हेवी हेवी स्ट्रोक्स मारने लगा..

वो चिल्ला रही थी – अया उम्म्म ह्म चोदो मुझे चोदो और ज़ोर से अयाया…

फिर मैं झड़ने वाला था तो उसने अपनी चूत टाइट कर ली और मैं झड़ गया उसकी चूत में ही.

मेरे झड़ते ही उसने मुझे एक लंबी स्मूच दी और कहा उसे भी बहुत मज़ा आया..

फिर हम खड़े हो गये और अपने अपने कपड़े पहन लिए और मैंने उसे प्रॉमिस किया की नेक्स्ट टाइम भी मैं उसके पास ही आऊंगा और उसे 200 रुपए टिप में दिए.

फिर मैंने बाहर जा कर अपना फोन ले लिया और घर चला गया..

Meri Sex Story Par Hazaro Kahaniya Hai…

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply