शानदार चूत 3

6 min read

Meri Sex Story Par Kahaniyo Ki Sankhaya Ab Sankedo Ki Jagah Hazaro Me Pahuch Chuki Hai… Hamare Sabhi Writers Aur Readers Ko, Msst Kamini Ka Tahe Dil Se Shukriya… Bas Padhte Rahiye Meri Sex Story Dot Com…

लेखक – सुमित पहलवान
सम्पादिका – मस्त कामिनी

मैं बेड पर बैठ गया और अपने जूते निकाल कर, बेड पर दीवार से पीठ टीका कर लेट गया..

मैं कुछ थका हुआ सा भी महसूस कर रहा था..

मैंने टीवी चालू किया और देखने लगा..

बबिता बेड के पास खड़ी हुई थी और मुझे ऊपर से नीचे तक देखे जा रही थी..

उसकी साँस लेने के कारण, उसके मम्मे ऊपर नीचे हो रहे थे..

मैंने उसकी तरफ हाथ बढ़ाया..

कुछ देर बाद, उसने मेरा हाथ पकड़ा तो मैंने उसे बेड पर खींच लिया..

वो बड़ी अदा से, मेरे सिने पर गिर पड़ी..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

अब हम आधे लेटे हुए थे..

उसका सर मेरे सिने पर था..

एक हाथ से, मैं उसे थामे हुए था और अब एक हाथ से मैंने उसके गालों को छुआ..

उसने, फ़ौरन आँखें बंद कर लीं..

वो उस वक़्त तक, शादी के हिसाब से दुल्हन की तरह सजी हुई थी..

साड़ी पहने हुए थी और इत्र की मदहोश कर देने वाली उसकी महक से, मैं दीवाना हो गया था..

उसके बालों से कंडीशनर की खुशबू आ रही थी..

मैंने उसके माथे पर किस किया..

सच कहूँ तो आज मैं भी सुहाग रात मानने के मूड में था..

बबिता, एक 29 साल की अविवाहित लड़की थी इसलिए मैं ये अच्छी तरह से जानता था की उसे क्या चाहिए..

मेरा मतलब है की सेक्स, पर प्यार के साथ..

फिर मैंने उसकी बंद आँखों को चूमा और एक हाथ, उसके बालों में फिराने लगा..

वो किसी नयी दुल्हन की तरह, शरमा रही थी..

उसका एक हाथ, मुझे अपने घेरे में लिए हुए था..

फिर मैं उस के ऊपर कुछ झुका और मैंने अपने होंठ, उसके होंठों से लगा दिए..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

वो काँप गई और ज़ोर से मुझे अपनी बाहों में भर लिया..

मैं उसके होंठ चूस रहा था और वो भी, मेरे होंठ चूस रही थी..

कुछ देर होंठ चूसते हुए, वो इतनी बैचेन हो गई की उसने अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों गाल पकड़े और ज़ोर ज़ोर से सर घुमा घुमा कर, मेरे होंठ चूसने लगी..

बेतहाशा, मेरे होंठ चूमती रही वो..

एक समय तो, मैं भी छट-पाटने लगा था..

वो इतनी गरम हो चुकी की एकदम “भूखी शेरनी” हो गई थी..

इस समय, उसके बड़े बड़े मम्मे मेरे सीने पर दब रहे थे..

फिर मैंने भी अपना एक हाथ, उसके सर के पीछे डाल कर उसका सर पकड़ कर पूरे ज़ोर से उसके होंठ चूसने लगा..

करीब 20 मिनट तक, हम बस किस करते रहे..

ये “फोर प्ले” का पहला भाग था..

फिर कुछ देर बाद, हम अलग हुए..

दोनों ही, बुरी तरह हाँफ रहे थे..

हम दोनों बिस्तर पर, अलग अलग लेटे हुए थे..

कुछ देर बाद, जब हम सामान्य हुए तो मैं उसकी तरफ पलटा..

वो आँख बंद किए हुए लेटी थी..

मैंने उसे गर्दन पर चूमते हुए, उसके मम्मे पर चूमने लगा..

साड़ी का पल्लू उसके सिने पर से अलग करते ही, मैं हैरान रह गया..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

क्या मस्त बड़े बड़े, गोरे गोरे मम्मे थे..

यार, एकदम गोल गोल..

मैं तो मचल उठा..

मैंने अपने दोनों हाथ, उनके दोनों मम्मे पर रख दिए और सहलाने लगा..

उसकी साँसें तेज़ चलने लगी और वो मेरी तरफ देखने लगी..

मैंने मम्मे सहलाते हुए, अपना मुंह उसके ब्लाउज में घुसा दिए..

वो मचल उठी और मेरा सर अपने दोनों हाथों से पकड़ कर, मम्मे पर दबा दिया..

मैं अपने होंठ, उसके मम्मे पर फेरे जा रहा था..

फिर मैंने, एक हाथ से उसके ब्लाउज के बटन खोल दिए..

वो गुलाबी रंग की “पैडेड ब्रा” पहने हुए थी..

क्या “सेक्सी ब्रा” थी..

मज़ा आ गया..

फिर मैं कुछ देर ब्रा के ऊपर से ही, मम्मे दबाता रहा और अपने होंठ फेरता रहा..

अब मैं मम्मे से नीचे होते हुए, उसके पेट और नेवल पर आया..

उसकी कमर को, मैंने खूब चूसा..

उसकी नेवल में जीभ डाल कर, पागलों की तरह चाटा..

उसकी हालत, बहुत खराब हो चुकी थी..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

फिर, मैं एक झटके से बिल्कुल नीचे उसके पैर के पास पहुँच गया..

उसके पैर चूमते हुए, उसकी साड़ी ऊपर करते हुए जांघों तक आ गया..

क्या खूबसूरत सेक्सी नरम नरम, गोरी गोरी जांघें थी..

मैं दोनों जांघों पर अपने होंठ रगड़ रहा था..

वो मदहोश हो रही थी.. अपना सर ज़ोर ज़ोर से, आजू बाजू घुमा रहा था..

वो अपने होंठ, दाँतों से चबा रही थी..

मैंने अपने दोनों हाथ उसकी दोनों जांघों पर से सरकते हुए, उसकी पैंटी को पकड़ा और नीचे खींच दिया..

मेरी इस हरकत से वो चुहुंक गई और दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ कर, अपनी चूत पर दबा दिया..

बहुत ही शानदार चूत थी, वो..

बिल्कुल “मलाई” की तरह..

गोरी और चिकनी..

बिल्कुल साफ़, एक भी बाल नहीं था और महक तो पूछो ही नहीं..

गोरी चूत देखना का मौका, बहुत ही किस्मत से मिलता है..

मैंने, अपना काम शुरू कर दिया..

अपने दोनों हाथ से उसके नितंब सहलाते हुए, उसकी चूत चाटने लगा..

वो अपनी कमर ज़ोर ज़ोर से ऊपर उछालने लगी..

“सी सी” की आवाज़ निकालने लगी..

करीब 15 मिनट तक चूत चाटते हुए, उसने 3 बार उसने अपना पानी छोड़ा..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

उसे बहुत आनंद आ रहा था..

फिर, मैं अलग हुआ तो वो भी बैठ गई और मेरी शर्ट के बटन खोलने लगी..

इधर, मैंने अपना पैंट खोलना शुरू किया..

उसने शर्ट उतारने के बाद, मेरे सिने पर बहुत प्यार से हाथ फेरा और अपने होंठ, मेरे सिने से लगा दिए और ज़ोर ज़ोर से मेरे सिने पर होंठ फेरने लगी..

यहाँ, मैं पैंट उतार चुका था..

फिर, मैंने उसका ब्रा अलग किया तो उसके मम्मे बाहर आ गये..

कहानी जारी रहेगी.. ..

मेरी सेक्स स्टोरी को और बेहतर बनाने में हमारी मदद कीजिये और अपने सुझाव हमें लिख भेजिए – [email protected] पर..

Meri Sex Story – Shandaar Chut 3

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply