शेरनी ने किया मेरे लण्ड का शिकार 5

5 min read

लेखक – सुमित पहलवान
सम्पादिका – मस्त कामिनी

हम दोनों नंगे ही, रूम में घूम रहे थे..

वो आ कर, बिस्तर पर उल्टी लेट गई..

उसकी “नंगी, गद्देदार गाण्ड” मुझे निमंत्रण दे रही थी..

मैंने एक बार फिर उसे चूमना शुरू किया और पैर से चूमते हुए, उसकी जांघों पर आ गया..

फिर मैंने, अपने दोनों हाथों से उसके चुत्तड़ पर प्यार से हाथ फेरा..

मैंने एक गहरी साँस लेते हुए, उसके चुत्तड़ को अपने दोनों हाथ में लेकर दबाया और अपने होंठ और गाल चुत्तड़ से रगड़ने लगा..

करीब 15 मिनट तक जी भर कर, उसके चुत्तड़ से खेलता रहा..

फिर मैं, बिल्कुल उनके ऊपर आ गया और अपना पूरा वजन उनके ऊपर रख दिया और उनके चुत्तड़ पर अपना लण्ड रगड़ने लगा..

जब मैंने उनकी गाण्ड के छेद में लण्ड डालना चाहा तो उन्होंने मना कर दिया..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

वो बोली – नहीं सुमित… यहाँ नहीं… मेरी गाण्ड, अभी तक “कुँवारी” है… मैंने अपने पति को भी नहीं दी… वो कहते कहते, चले गये… इसलिए, मैं तुम्हें भी नहीं दे सकती…

मैं उसकी बात सुन कर मान गया..

सो अब मैंने उसके दोनों पैर मोड़ कर कुतिया स्टाइल में कर दिया और अपना लण्ड एक झटके में पूरा का पूरा अंदर कर दिया..

अब मैं उनके चुत्तड़ पर दोनों हाथ रखे हुए, धक्के मार रहा था..

वो भी हिल हिल कर, मेरा पूरी तरह साथ दे रही थी..

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था..

करीब 10 मिनट बाद, मैंने उसे उठा कर अपने कंधे पर रख लिया और ज़ोर ज़ोर से चुदाई करने लगा..

ऐसी चुदाई में, उसे भी मज़ा आ रहा था पर दर्द भी हो रहा था..

वो सिसकारियाँ भर रही थी..

साथ में “सी सी आ आ आ” भी कर रही थी..

कुछ देर बाद, मैंने उन्हें सीधा लिटा दिया..

वो बोली – सुमित, मैंने 3 साल से नहीं किया है… इतने टाइम बाद, मैं इतनी देर सहन सकती नहीं है… जल्दी, अपना काम कर दो ना… देखो, रात के 3 बज चुके है… तुम्हें सुबह 5 बजे के पहले, बाहर भी निकलना है… 5 बजे के बाद, रोशनी हो जाएगी और कुछ लोग भी जाग जाते हैं, सुबह टहलने के लिए… तुम्हारा रेट ज़्यादा नहीं है, मौका मिला तो मैं जल्द ही, तुम्हें दुबारा बुला लूँगी… पर अभी जल्दी करो… मैं बहुत थक गई हूँ… वैसे, तुमसे चुद कर मुझे समझ आ गया की तुमने ये काम क्यूँ चुना… बहुत कम मर्द ही औरत को संतुष्ट कर पाते हैं… और, ये कह कर वो मुस्कुराने लगी..

फिर उसने मेरा सर पकड़ कर, मेरा माथा चूम लिया और कहा – तुमने सच में मुझे खुश कर दिया… सुकून मिल गया, मुझे… लण्ड की प्यास, मेरी उंगली नहीं बुझा पाती थी…

इधर, मेरा लण्ड अभी भी उनकी चूत में था..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

मैंने समा बनाया और अब बिना रुके, शुरू हो गया..

मैंने इतनी ज़ोर से चुदाई की, की वो पूरी तरह तर हो गई..

उन्हें भी बहुत मज़ा आ रहा था..

अब करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद, मैंने और उन्होंने एक साथ जबरदस्त छूट की..

अब तो मेरे मुँह से भी, ज़ोर से आवाज़ निकल गई..

अहह आ आ आ आ आ आ आ आहहहहहहह म्ह…

उन्होंने तुरत मेरे मुंह पर अपना हाथ रख दिया और अपने ऊपर खींच लिया..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

हम दोनों, बहुत हाँफ रहे थे..

हम ऐसे ही करीब 15 मिनट, एक दूसरे की बाहों में बाहें डाले पड़े रहे..

मेरा लण्ड, उनकी चूत में था..

हम लेटे रहे..

फिर हम उठे..

वो बहुत खुश थी.. मुझे बेतहाशा चूमे जा रही थी शायद मेरे जाने का आभास था..

वो, कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती थी..

बेतहाशा चूमा, उन्होंने मुझे..

मुझे भी उन पर, बहुत प्यार आया..

खैर, फिर हम बाथरूम गये और आकर मैंने कपड़े पहने..

4:30 बज रहे थे..

मैं निकलने को तैयार था..

वो अब साड़ी पहन चुकी थी..

उन्होंने मुझे एक लिफ़ाफ़ा दिया, जिसमें रुपए थे..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

फिर वो बोली – मैं फिर आप को बुला सकती हूँ, क्या…

तो मैंने कहाँ – हाँ हाँ… क्यूँ नहीं… आप मेरे मोबाइल पर मैसेज देना और सब कुछ तय करके, मैं फिर आ जाऊँगा…

फिर मैं दरवाजे की तरफ बड़ा तो उन्होंने मुझे रोक दिया..

पहले रूम में, अभी भी अंधेरा था..

उन्होंने जान कर, उस रूम की लाइट चालू नहीं की थी..

उन्होंने धीरे से बाहर का दरवाजा खोला और आस पास देखा की कोई देख तो नहीं रहा है..

संतुष्ट हो कर, उन्होंने मुझ से कहा – अब तुम जा सकते हो… बाहर कोई नहीं है…

मैं जाने लगा, वैसे ही उन्होंने मेरा सर पकड़ कर मेरे होंठों को ज़ोर से चूमा और मैं वहाँ से निकल आया..

कुछ देर में, मैं कॉलोनी के बाहर मॉर्निंग वॉक कर रहे लोगों में शामिल हो चुका था..

यदि आप भी चाहते हैं की आपकी कहानी इसी तरह मेरी सेक्स स्टोरी पर प्रकाशित हो तो बस नोटपैड पर हिन्दी या हिंगलिश में अपनी कहानी लिखिए और भेज दीजिये – [email protected] पर..

मेरी सेक्स स्टोरी को और बेहतर बनाने में हमारी मदद कीजिये और अपने सुझाव हमें लिख भेजिए – [email protected] पर..

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply