गर्लफ्रेंड की बुआ की बेटी की चुदाई

3 min read

सभी प्रिय पाठकों को नवीन का प्यार भरा नमस्कार।

Welcome To Meri Sex Stories! यह जो सेक्स स्टोरी मैं आपको सुनाने जा रहा हूँ, बिल्कुल सच्ची है। मैं पहली बार मेरी सेक्स स्टोरी लिख रहा हूँ। मुझसे कोई ग़लती हो जाए तो माफ़ कीजिएगा।

मेरा नाम नवीन है, मैं झुँझनू राजस्थान का रहने वाला हूँ। मैं दिखने में ठीक-ठाक हूँ। मेरी हाइट 6 फिट की है और मेरा लंड 6 इंच लंबा है और काफी मोटा है।

यह घटना तब की है.. जब मैं 19 साल का था और 12वीं में पढ़ता था।
पहले मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी और मैं सोचता था कि क्या कभी कोई लड़की मुझसे भी प्यार करेगी?

मैं फ़ेसबुक पर फ़्रेंड बनाता था और बहुत सारी लड़कियां मेरी अच्छी फ्रेंड बन चुकी थीं। उन लड़कियों में से एक का नाम पूनम था.. उससे मेरी काफी बातें होती रहती थीं।

एक दिन मैंने अपनी फोटो अपलोड की तो उसने कमेन्ट किया- सो स्वीट…
मैंने भी रिप्लाई में ‘थैंक्स’ बोल दिया।
बाद में उसने मुझसे पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?
मैंने कहा- अभी तक तो कोई नहीं है।
उसने कहा- थैंक्स गॉड कि आप सिंगल हो..

मैंने सोचा कि ये लड़की पट सकती है, मैंने उसको प्रपोज किया तो उसने भी ‘हाँ’ बोल दी।
मुझे मालूम था कि वो मुझसे ज़्यादा प्यार नहीं करती थी.. बस टाइम पास के लिए मुझसे चैट करती थी।

उसने एक बार अपनी बुआ की लड़की ऋतु से मेरी बात करवाई, मुझे उसकी बुआ की लड़की मस्त लगी।
अब मैं उससे सच्चा प्यार करने लगा।

एक बार मैंने उसकी बुआ की लड़की को प्रपोज किया.. तो वो बुरा मान गई, उसने कहा- तुम मेरी बहन को धोखा दे रहे हो।
मैंने कहा- वो मुझसे प्यार नहीं करती है.. बस टाइम पास करती है।

मेरे ज़्यादा रिक्वेस्ट करने पर उसने मुझसे ‘हाँ’ बोल दी।
दोस्तो, उसका फिगर 32-30-34 का था, रंग बहुत गोरा था।

धीरे धीरे हम दोनों में प्राईवेट बातें सेक्स चैट भी होने लगीं। कुछ ही दिनों में हम दोनों फोन सेक्स करने लगे।

वो सीकर से थी.. उसने मुझसे कहा- मुझसे मिलने आ जाओ न..
उस वक्त मेरे मम्मी-पापा जयपुर गए हुए थे.. तो मैंने आने से मना कर दिया।

एक दिन मौका मिला तो मैं उससे मिलने गया, आज उसके घर पर वो अकेली थी। मैंने उसके घर जाते ही उसको एक किस किया और घर में अन्दर चला गया।
उसने वाइट टी-शर्ट और ब्लू जीन्स पहनी थी, वो क्या मस्त माल लग रही थी। रात को हम दोनों ने मिल कर खाना खाया और फिर वो मेरे पास आई।

मैंने उसको अपने पास खींच लिया और उसके होंठों पर किस करने लगा। फिर मैंने उसके मम्मों को आज़ाद कर दिया और उसके मम्मों को पीने लगा।
क्या मस्त चूचे थे उसके.. मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए.. और उसकी चूत चाटने लगा।

उसने भी मेरा लंड निकाल लिया और सहलाने लगी। उसकी चूत गीली हो चुकी थी।

फिर मैंने उसको लिटा दिया और अपने लंड का सुपारा उसकी चूत के पास लगा कर अन्दर डालने लगा।
उसकी चूत बहुत तंग थी.. जिस वजह से ठीक से मेरा लंड जा नहीं रहा था।

फिर मैंने लंड पर तेल लगा कर जोरदार झटका मारा तो मेरा आधा लंड चूत के अन्दर चला गया।
उसकी तो चीख निकल गई। मैंने उसके होंठ अपने होंठों से दबोच लिया।

थोड़ी देर बाद उसका दर्द कम हुआ और हम दोनों ने 15 मिनट दम से चुदाई की। बाद में मैंने अपना माल उसकी चूत के अन्दर ही छोड़ दिया।

कुछ देर यूँ ही लेटे रहने के बाद हम दोनों ने एक-दूसरे को व्यवस्थित किया।

कुछ देर बाद हम दोनों नंगे ही सो गए।
इसके बाद सुबह मैं अपने घर वापस आ गया।

Meri Sex Stories पर आपके विचारों का स्वागत है।
[email protected]

Written by

नवीन चौधरी

Leave a Reply