इंडियन सेक्स स्टोरी : प्यार की प्यास

(Indian Sex Story : Pyar Ki Pyas)

मैंने माफ़ करते हुए उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसको बेतहाशा चूमने लगा।

वो मेरा साथ देने लगी तो मैं उसके मम्मे दबाने लगा।

वो भी गर्म होने लगी और पैन्ट के ऊपर से ही मेरे लण्ड को हाथ में लेकर मसलने लगी। अब हम दोनों ऐसे ही आधे घंटे तक लिपटे रहे। उसकी सहेली किसी से फोन पर बात करने लगी।

मैंने पूछा- ये किससे बात कर रही है?
शबाना ने कहा- मुझे पता नहीं।

फिर हम दोनों एक दीवार की आड़ में आ गए और मैंने अपना लण्ड निकाल कर उसके हाथ में दे दिया।

मैंने कहा- इसे अपने प्यारे होंठों से किस करो।

तो वो मना करने लगी.. बाद में मेरे समझाने पर मुँह में लेकर चूसने लगी। मैंने पहली बार किसी को अपना लण्ड चुसवाया था.. इसलिए मुझे बहुत मजा आ रहा था। वो भी पूरी गर्म हो चुकी थी।

मैंने पूछा- जानू कैसा लगा?
उसने कहा- बहुत अच्छा..
फिर मैंने कहा- जानू.. मैं तुमसे एक बात कहना चाहता हूँ?
उसने कहा- बोलो..
मैंने कहा- मैंने अपनी लाइफ में आज तक किसी भी लड़की को नहीं चोदा है.. क्या तुम मेरे प्यार की प्यास बुझा सकती हो?
शबाना बोली- मैंने भी आज तक किसी लड़के के साथ कुछ नहीं किया.. क्या तुम वो सब कर पाओगे।
मैंने कहा- मैं अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ता हूँ.. इसलिए मुझे सब पता है कि कैसे क्या किया जाता है।
उसने कहा- घर जाते वक्त पहले वो सब साइट के बारे में मुझे बता देना।
मैंने कहा- हाँ बता दूंगा।

फिर हम दोनों एक-दूसरे के कपड़े उतारने लगे और फिर से एक-दूसरे को चूमते रहे। मैंने आगे बढ़ते हुए उसके मम्मों को अपने मुँह में लेकर चूसना चालू किया और वो मेरा लण्ड सहलाने लगी।

उसकी सहेली हमारा ये खेल दीवार के ऊपर से देख रही थी। इसका पता शबाना को नहीं था।

मैंने उसकी ब्रा उतार कर दूर कर दी। अब वो मेरे सामने नंगी थी और मैं भी।

इसके बाद मैंने उसको नीचे लिटाया और उसकी चूत पर अपना लण्ड रख कर एक ज़ोरदार धक्का मारा और उसकी सील तोड़ डाली।

वो खूब तड़पने लगी और मुझसे कहने लगी- प्लीज फरीद.. निकालो।
मैंने कहा- जानू सब्र रखो.. सब ठीक हो जाएगा।

मैंने अपना काम चालू रखा और वो रोती रही.. लेकिन थोड़ी देर बाद उसको भी मजा आने लगा।

अब वो कहने लगी- जानू और जोर से आह.. आह.. मजा आ रहा है।

पहली बार होने की वजह से हम दोनों एक साथ जल्दी झड़ गए और लिपट गए।

उसने मुझसे पूछा- मजा आया?
मैंने कहा- पहले तुम बताओ।

मेरे पूछने पर वो शर्माने लगी और कपड़े ठीक करने लगी।

पहली मुलाक़ात के बाद हम हर हफ्ते मिल कर चुदाई का खूब मजा लेने लगे।

इस मुलाक़ात के एक साल बाद एक रोड एक्सीडेंट में उसका निधन हो गया और बहुत बुरी हालत में उसकी लाश मिली थी।

उसी दिन से लेकर एक महीने तक मुझे कुछ ठीक नहीं लगता था.. बस उसकी याद और रोना ही आता था।

मुझे उसकी मुलाकातें और उसकी याद बहुत तड़पाती थीं। मेरे इस गम की खबर उसकी स्कूटी वाली दोस्त को पता चली। उसने मुझे कॉल किया और मुझसे अपने आप पर काबू रखने को कहा।

अब वो इसी तरह रोजाना मुझे कॉल करके शबाना की यादों को दूर करने की कोशिश करती। इसी बीच हम दोनों में भी प्यार मोहब्बत की बातें शुरू होने लगीं।

ये थी मेरी पहली प्यार की प्यास।

दोस्तों मुझे जरूर बताना मेरी ये पहली कहानी Indian Sex Story आप को कैसी लगी।

उसके बाद मैंने स्कूटी वाली को भी चोदा और उसकी बहन को भी चोदा। वो किस्सा फिर कभी शेयर करूँगा।

आई लव यू अन्तर्वासना..
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top