शरीफ लड़की ने ज़बरदस्त चुदवाया

(Shareef Ladki Ne Jabardast Chudwaya)

पहली बार ऐसी लड़की को देखा जिसके लीये मेरे मन में हलचल हो गई जिसके साथ meri sex stories तब शुरू हुई जब मैंने अपने दोस्त के मदद से उससे दोस्ती किया..

हैलो दोस्तों। सबसे पहले मेरी सेक्स स्टोरी के कामिनी जी को मेरा नमस्कार। मैंने मेरी सेक्स स्टोरी पर बहुत कहानियां पढ़ी है, फिर सोचा कुछ अपनी लाइफ का भी आपको कुछ बताऊँ।

दोस्तों ये मेरी ज़िन्दगी की पहली घटना है, जो आज से 2 साल पहले हुई जिसने मेरी ज़िन्दगी बदल दी। ये मेरी ज़िन्दगी की पहली चुदाई की कहानी है, जिसमें मैंने एक बहुत ही शरीफ लड़की को चोदा।

मेरा नाम अलफ़ाज़ खान है। मैं राजस्थान के पाली जिले में रहता हूँ। मेरी उम्र 22 साल है और में दिखने में मस्त हूँ, मेरी बॉडी भी बहुत अच्छी है और मेरे लण्ड का साइज़ 6 इंच है।

तो हुआ यूं की पाली में मेरा एक बहुत ही अच्छा दोस्त रहता है, मैं अक्सर उसके घर जाता रहता हूँ। उसकी गली में एक लड़की रहती है जिसका नाम कोमल राजपूत है, उसकी उम्र 20 साल है उसके बूब्स बहुत छोटे छोटे थे और वो पतली जिस्म की मालकिन थी पर उसका चेहरा बहुत ही सेक्सी था जो भी उसे देखे वो बस देखता ही रह जाये।

तो फ्रेन्ड्स मैंने अपने दोस्त को कहा की ‘यार मुझे ये लड़की बहुत पसन्द है, मैं इससे दोस्ती करना चाहता हु तू प्लीज़ मेरी इससे दोस्ती करवा दे..’
तो उसने कहा ‘कोशीश करेगा..’ क्योंकि उसकी भी गर्लफ्रंड वहीँ रहती थी और उस लड़की की दोस्त थी फिर उसने अपनी गर्लफ्रेंड से बात की और उसने कैसे भी करके उस लड़की को मुझसे दोस्ती करने के लिए मना लिया और मुझे उसका नम्बर दे दिया।

फिर हम रोज़ बात करने लगे और मैंने उसे परपोज़ भी किया लेकिन उसने मना कर दिया। फिर कुछ दिन के बाद उसने सामने से मुझे ‘आई लव यू..’ कह दिया और मेरी गर्लफ्रेंड बन गयी। फिर दोस्तों हम अक्सर चुपके चुपके मिलते थे। कभी रेस्टोरेंट में कभी कॉफी शॉप में तो कभी थिएटर में। पर मैं कभी कुछ नही कर पाया।

एक दिन हम होटल में बैठे थे और मैंने उसे उसके होठो पर किस कर दिया तो फ्रेन्ड्स वो रोने लग गयी और उसकी आँखो से आंसू निकल गए और वो वहाँ से चली गयी फिर जब हमारी बात हुई तो उसने कहा उसे ये बिलकुल पसन्द नही है फिर में कभी कुछ नही पाया।

लेकिन मैंने भी सोच लिया था इसकी चूत सबसे पहले में ही मारूँगा। कुछ दिन बाद मेरा जन्मदिन आया तो वो मुझसे मिलने आई और मुझे गिफ्ट में सिल्वर रिंग दी तो मैंने कहा मैं गिफ्ट तभी लूंगा जब वो मुझे किस करेगी।

कुछ देर तक सोचने के बाद वो आगे आई और उसने मेरे होठो को चूम लिया और मैंने भी उसे अपनी बाँहो में जकड लिया ओर उसे ज़ोर ज़ोर से किस करने लगा। तो वो मुझे रोकने लगी और मना करने लगी पर मुझे तो आज उसकी चूत मारनी थी।

मैंने नाराज़ होने का नाटक किया और उससे अलग होकर बैठ गया और बहुत देर तक मैंने उससे कोई बात नही की फिर उसने सॉरी कहा और मुझसे गले लग गयी फिर में उसे एक होटल में ले गया।

और कमरे में जाते ही उसे पागलों की तरह चूमने लगा और होठो पर बहुत ज़ोर से किस करने लगा और उसके पुरे जिस्म को अपनी बाँहो में ले लिया और मसलने लगा।
मैंने उसकी कान की लौ को मुँह में लेकर चूसने लगा। धीरे धीरे वो गर्म होने लगी और उसके मुह्ह से पहली सिसकारी निकली ‘आआह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्..।’

फिर मैंने उसे बिस्तर पर सुला दिया और मैं उसके ऊपर सो गया और फिर से किस करना शुरू कर दिया इस बार हमारा किस लगभग 20 मिनिट तक चला।
फिर मैंने उसकी फ्रॉक उतारी उसने अंदर काले कलर की ब्रा पहनी थी मैंने उसे भी उतार दिया उसके बूब्स बहुत छोटे छोटे और सफ़ेद थे, उसकी निप्पल का दाना गुलाबी कलर का था।

मैं उसके बूब्स पर हाथ फेरने लगा और उस पर अपनी पकड़ मजबूत बनाते हुए थोडा जोर से उसके बूब्स को दबाया तो वो फिर से सिसकारने लगी ‘आःह्हआःह्ह्आआह्ह्ह्.. ऊओह्हऊऊओ..।’
कुछ देर मसलने के बाद मैंने उसके बूब्स को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा और उसके निप्पल को अपने दांतो से काटने लगा।

वो मस्ती में मस्त होती जा रही थी और लगातार उसके मुँह से सिस्कारियां निकल रही थी। फिर मैंने उसकी सलवार भी उतारी उसने काले कलर की पैंटी पहनी थी मैंने उसे भी उतार दिया।
उसका शर्म से मुँह लाल हो गया फिर मैंने अपने कपडे भी उतार दिए और दोनों नंगे होकर एक दूसरे के जिस्म से जिस्म रगड़ने लगे और किस करते रहे।

धीरे धीरे मैं उसकी चूत तक अपना मुँह ले गया और जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर रखी उसे बहुत ज़ोर से करंट लगा और वो उ्छल पड़ी फिर मेंने उसकी चूत चाटनी शुरू की तो उसने मेरा मुह अपनी चूत पर दबा दिया और ज़ोर जिर से सिस्कारिया लेने लगी।

Comments

Scroll To Top