8 लण्ड वाली का तजुर्बा 1

6 min read

Meri Sex Story Par Aaj Ab Tak 8 Lund Se Chudwa Chuki Kripa Ki Seal Tutne Ki Dastaan…

लेखिका – कृपा

हेलो फ्रेंड्स…

मैं कृपा, वडोदरा से हूँ.. मेरी उम्र 24 साल है और मेरा फिगर “32 27 34” है..

मैं बहुत बड़ी “चुदक्कड़” हूँ.. मैंने आज तक “8 लंड” लिए है..

मैं, “मेरी सेक्स स्टोरी” की बहुत बड़ी फेन हूँ, मैंने बहुत स्टोरी पढ़ी है..

अब मैं, बोर ना करते हुए स्टोरी पर आती हूँ..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

लंड वालो लंड पकड़ ले और चूत वाली अपने चूत मे उंगली डाल ले और आपने स्टोरी पढ़ते टाइम कितनी बार लंड से पानी निकाला, ये मुझे मेल कर के ज़रूर बताना..

ये कहानी तब की है, जब मैं 18 साल की थी.

मैं एक लड़के से प्यार करती थी.

वो मुसलमान था..

उसका नाम “सलीम” था.. दिखने मे, एक दम हॉट और गोरा था..

मैं उसे बहुत ही पसंद करती थी.. मैं उसके पीछे पागल थी..

मैंने सामने से प्रपोज़ किया तो उसने मुझे रिजेक्ट कर दिया.. फिर भी मैं ट्राइ करती रही..

वो मुझे रिजेक्ट करता गया.. मैं गुस्से मे आ गई..

मेरे ही कॉलोनी मे एक लड़का रहता था, जिसका नाम तरुण था, वो मुझे पसंद करता था और वो भी दिखने मे स्मार्ट था.. मैं उसको इग्नोर करती थी.

फिर मुझे एक आइडिया आया की मैं तरुण को “हाँ” कह दूं तो शायद, सलीम मुझे उसके साथ देख कर जल जाए और भागता हुआ मेरे पास आ जाए..

मैंने तरुण को “हाँ” कहा..

मैं सलीम के सामने उससे मिलने लगी पर उसे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता था.

मेरा, तरुण के साथ घूमना, खाना पीना, शुरू हो गया था और वो मुझे किस भी करता था और एक बात है, तरुण सलीम का दोस्ता था तो तरुण हमारे बीच के बाते उसे बताता था..

ऐसे ही 4 महीने निकल गये और तरुण, मुझे हग, किस और मुझे ऊपर से मसलने लगा था..

एक दिन, मैंने वापस सलीम को प्रापोज़ किया तो उसने मुझे रिजेक्ट कर दिया.

अब तरुण, मुझे सेक्स के लिए कहने लगा था और मैं मना करती थी..

इस तरह और 2 महीने निकल गये पर सलीम को कोई फ़र्क़ नहीं पॅड रहा था.

एक दिन, तरुण ने वापस सेक्स के लिए कहा और मैंने गुस्से मे सलीम को जलाने के लिए “हाँ” कह दिया.

उसको पता चला की मैं तरुण के साथ सेक्स करने वाली हूँ…

तो सलीम ने मुझे कहा की ऐसा मत करना…

मैंने कहा – तुम अगर मुझे प्यार नहीं करते तो तुम्हे क्यो इतनी जलन हो रही है ?

उसने कुछ नहीं कहा..

उसके 3 दिन बाद तरुण ने मुझसे कहा की हम एक होटल मे जाएगे सेक्स करने…

मैंने “हाँ” कह दिया..

मुझे लगा सलीम मुझे हाँ कहेगा, जलन से..

मैंने उसे वापस पूछा तो फिर से उसने मुझे मना कर दिया तो मैं तरुण के साथ जाने का पक्का किया और हम 9 बजे घर से निकले तब सलीम के सामने उसकी बाइक पर बैठ कर हम निकल गये और होटल में पहुचे तो वहाँ तरुण ने रूम पहले से ही बुक करवा दिया था.

हम चाभी लेकर रूम मे गये.

अब शुरू होती है, असली कहने सेक्स की..

मुझे थोड़ा सा डर भी था दर्द का पर मैंने सोचा अब आगे जो होगा वो होगा.

मैं रूम मे जा कर बिस्तर पर बैठ गई.. तरुण ने रूम लॉक किया और वो मेरे पास आ कर बैठ गया और मुझे कहा – फ्रेश हो जाओ…

मैं फ्रेश होने गई बाथरूम मे और जा कर मैंने पेसाब की और फ्रेश होकर बाहर आई तो देखा तो तरुण टी वी ऑन करके बिस्तर पर लेटा था और चादर डाल कर बैठा था अपने ऊपर.. मैं बिस्तर के पास गई और बैठ गई..

उसने मुझे अपने पास खींच लिया और मैं उसके ऊपर जाकर गिरी.

मुझे पता था की वो चादर के अंदर नगा सोया हुआ था और उसने मुझे अपने पास खींचा और मुझे लिप किस करने लगा.. मैं सपोर्ट नहीं कर पा रही थी..

फिर, उसने मुझे नाक पर किस करना शुरू किया.. वो मेरे कमज़ोरी है..

उसके बाद, मैं भी उसे सपोर्ट करने लगी.. मैं खुद उसको लिप किस करने लगी..

मैं खुद उसके मुँह मे जीभ घुमाने लगी..

वो मेरे बूब्स मसलने लगा था, मेरी टी – शर्ट के ऊपर से..

मैं और भी ज़्यादा उत्तेजित हो गई थी.

उसके साथ, मैं खुद अपने हाथ से उसको बूब्स दबावाने लगी और “आह” करने लगी और अब वो मेरी टी-शर्ट उतरने लगा और उतार दी और अब मैं, ऊपर से नंगी थी.

अब वो मेरे दूध ब्रा के ऊपर से मसलने लगा.. मैं मदहोश हो कर मसलवा रही थी..

उसने मेरी पीठ के पीछे हाथ ले जा कर मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा निकाल दी.

अब वो मेरे दूध मसलने लगा, ज़ोर – ज़ोर से मुझे दर्द भी हो रहा था.

मैंने उसको रोका तो वो बोला की दर्द मे ही मज़ा है.

मैं कुछ नहीं बोली..

उसने अपने ऊपर डाली हुए चादर निकाल दी.. मैं उसको देख के डर गई, उसका लंड एक दम टाइट खड़ा था..

काला सा 7 इंच का था 3 इंच मोटा.

उसने मुझे पकड़ कर लेटा दिया और मुझ पर लेट गया और मुझे किस करने लगा और मेरे लिप्स को काटने भी लगा, बीच बीच में.

अब वो किस करते करते मेरे दूध चूसने लगा था.. एक हाथ, एक दूध पर और दूसरा मुँह मे लेकर चूसने लगा..

निप्पल को भी काटता तो मैं चिल्लाती तो वो मेरे मुँह को बंद कर देता हाथ से और ऐसे ही, 30 मिनिट तक चलता रहा था.

अब उसका हाथ मेरी चूत पर था.. जींस के पेंट के ऊपर से ही उसने चूत को मसलने लगा था और मेरे दूध को चूसे जा रहा था..

अब उसने मेरा हाथ पकड़ कर लंड पर रखा और मुझे कहा ऐसे मसलो…

मैंने हाथ हटा दिया, गंदा लग रहा था..

मैंने हाथ हटाया तो उसने कुछ नहीं कहा…

अब उसने जींस निकालना शुरू किया और पूरा जींस निकाल कर मैंरे पैरो पर किस करते – करते वो मेरी जाँघो पर आ गया और मेरी गीली पैंटी पर किस करने लगा..

मैं और हॉट हो गई, मैं उसका सर चूत पर डाल रही थी.

अब उसने पैंटी निकाल दी और चूत पर एक किस किया..

आ अहह आह ह.. बहुत मज़ा आया, मुझे और मैं उछल पड़ी और उसके सर पर हाथ घुमाने लगी..

अब उसने चूत मे एक उंगली डाल दी मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ पर मैंने सह लिया.

अब उसने मेरे मुँह में 2 उंगली डाली और गीली कर दी और दोनो उंगली चूत पर रगड़ने लगा और एक दम से चूत मे डाल दी..

मैं चिल्ला उठी, दर्द से..

उसने मेरे मुँह पर हाथ रखा और मुँह बंद कर दिया और चूत मे उंगली चलाने लगा..

उसको लगा, मेरा दर्द कम हुआ है हाथ हटा दिया और दूध मसलने लगा..

एक हाथ से दूध मसलने लगा.

अब मैं भी गांड उठा उठा कर उंगली करवाने लगी..

5 मिनिट मे मेरा पानी निकल गया..

कहानी जारी रहेगी…

Meri Sex Story Par Prakshit Koi Bhi Story Aap Apne Dosto Se Share Kar Sakte Hain Face Book, Twiiter Ya Google + Par… Story Share Karne Ke Liye Bas Click Kijiye “Share” Button Par…

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply