8 लण्ड वाली का तजुर्बा 2

5 min read

Meri Sex Story Ke Readers Se Request Hai Ki Is Story Ko Apni Pasand Ke Anurup “Star Rating” Dena Na Bhule…

लेखिका – कृपा

अब उसने जींस निकालना शुरू किया और पूरा जींस निकाल कर मैंरे पैरो पर किस करते – करते वो मेरी जाँघो पर आ गया और मेरी गीली पैंटी पर किस करने लगा..

मैं और हॉट हो गई, मैं उसका सर चूत पर डाल रही थी.

अब उसने पैंटी निकाल दी और चूत पर एक किस किया..

आ अहह आह ह.. बहुत मज़ा आया, मुझे और मैं उछल पड़ी और उसके सर पर हाथ घुमाने लगी..

अब उसने चूत मे एक उंगली डाल दी मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ पर मैंने सह लिया.

अब उसने मेरे मुँह में 2 उंगली डाली और गीली कर दी और दोनो उंगली चूत पर रगड़ने लगा और एक दम से चूत मे डाल दी..

मैं चिल्ला उठी, दर्द से..

उसने मेरे मुँह पर हाथ रखा और मुँह बंद कर दिया और चूत मे उंगली चलाने लगा..

उसको लगा, मेरा दर्द कम हुआ है हाथ हटा दिया और दूध मसलने लगा..

एक हाथ से दूध मसलने लगा.

अब मैं भी गांड उठा उठा कर उंगली करवाने लगी..

5 मिनिट मे मेरा पानी निकल गया और मैं 5 मिनिट के लिए, चुप चाप पड़ी रही बिस्तर पर..

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

वो अपना लंड लेकर मेरे मुँह के पास आया और मेरे मुँह पर लंड मारने लगा.

मैंने मना किया, मैं मुँह मे नहीं लूँगी पर वो नहीं माना..

मेरे नाक बंद कर दी तो मेरा मुँह खुल गया और मुँह मे लंड डाल दिया, पूरा गले तक चला गया..

मेरी आखो से आँसू आ गये फिर भी वो मेरे मुँह मे लंड डाले जा रहा था.

अब मुझे भी उसका स्वाद अच्छा लगने लगा था..

मैं भी अब चूसने लगी..

ऐसे ही 10 मिनिट मे, उसका पानी निकल गया और मेरे मुँह मे ही छोड़ दिया अपना माल और वो, पानी मैं पी गई..

उसका लंड मुरझा गया और वो मेरे बगल मे लेट गया.

10 मिनिट बाद, उसने वापस मुझे किस करने लगा और मेरी चूत भी पानी छोड़ने लगी थी.

मैं भी अब गरम हो गये थी.

उसका लंड महाराज भी अब उठने लगा और उसने मेरा हाथ, उसके लंड पर रखा और मैं भी लड मसलने लगी.

वो मेरे चूत से, मस्ती करने लगा था और अब उसका लंड पूरा उठ गया था.

मैं मस्ती से, उसका लंड मसल रहे थी.

अब वो उठा और फिर से, मेरे मुँह मे लंड दे दिया मैं रंडी की तरह चूसने लगी थी.

अब उसका लंड गीला हो गया और मुझसे रहा नहीं गया और बोल दिया – लंड डाल. भड़वे…

उसे गुस्सा आया और मुँह से लंड खींचा और मुझे लेटा दिया.

मेरे पैर खोल के बीच में बैठ गया और मेरी चूत पर लंड रगड़ने लगा था.

मैं इतनी हॉट हो गई की खुद लंड पकड़ कर चूत के मुँह पर रख दिया..

मैं ये भूल गई थी की मैं वर्जिन हूँ और उसने ज़ोर से धक्का दे दिया..

मेरे मुँह से चीख निकल गई और मैं रो दी.. अभी तक तो उसने सिर्फ़ सूपड़ा घुसाया था..

मैं मर गई ऐसा फील हुआ..

उसने मेरा मुँह दबा दिया और दूसरा झटका दिया और 2 इंच गया और मैं बेहोश हो गई..

उसने लण्ड को ऐसे ही घुसाया रखा और मेरी चूत से, खून निकलने लगा था.

5 मिनिट्स में मुझे होश आया.. मैं रोने लगी..

मैंने कहा – फाड़ दी, मेरी चूत… उसने कुछ कहे बिना मुँह बंद किया और पूरा लंड घुसा दिया.. मेरी हालत पानी बिना की मछली की तरह हो गई थी..

मैं तड़प रही थी….

वो बेरहमी से मुझे मसलने लगा और धीरे – धीरे चोद्ना शुरू किया.

10 मिनिट मे, उसका पानी निकलने लगा.

उसने सारा पानी मेरे पेट पर निकाला और मेरे ऊपर ही लेटा रहा, थोड़ी देर.

मैं रोती रही पर उसको कुछ भी फ़र्क़ नहीं पड़ा.. उसने वापस उठ कर मुझ पर लगा उसका माल साफ किया और मेरी पैंटी से खून भी साफ किया और लंड भी साफ किया..

वो उठ कर बाथरूम मे गया..

मैं उठना चाह रही थी पर उठ नहीं पाई..

उसको बुलाया, वो मुझे उठा कर बाथरूम मे ले गया और मैं बैठ कर मूतने लगी.

वो मेरे मुँह के पास लंड लेकर खड़ा हो गया और मेरे मुँह मे लंड डालने लगा और मैं लंड चूसने लगी.

फिर, उसने मेरे मुँह से लंड निकाला और उठा कर मुझे बिस्तर पर लेटा दिया.

उसने मेरे पैर फैला कर, मेरी चूत खोल कर देखने लगा और उसने मुँह मेरी चूत पे रखा मुझसे रहा नहीं गया और मैं उसका सर चूत पर दबाने लगी.

वो 5 मिनिट तक चूत चाटने के बाद उठा और एक तकिया लेकर मेरी गांड के नीचे रख दिया और वो पैरो बीच आकर पैर कंधे पे रखे और चूत पर लंड रखा और मुझे किस करने लगा और एक झटका दिया.

मेरे मुँह से चीख निकल नहीं पाई पर आखो से आसू आ गये पर वो अब भी रुका नहीं मुझ पर कोई रहम किए बिना मुझे ज़ोर ज़ोर से चोद्ने लगा.

मैं रोती रही और वो चोद्ता रहा..

ऐसे ही उसने मुझे और 1 बार चोदा..

फिर हम रेडी होने के लिए, नहाने चले गये.

मैं चल नहीं पा रही थी.

मेरी चूत का भोसड़ा बना दिया था उसने.

मैं चलने लायक नहीं थी.

जैसे तैसे हम घर गये.. ..

Meri Sex Story Ko Lokpriya Banane Ke Liye Sabhi Readers Ko Msst Kamini Ka Bahut Bahut Shukriya…

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply