जवान कमसिन चूत

8 min read

Meri Sex Story Par Ek Jawaan Kamsin Chut Ki Sheel Bhang Ki Kahani, Usi Ki Juvani..

लेखिका – रोमिका

हेलो दोस्तो.

मेरा नाम अमित है.

मैं और मेरी पत्नी, रोज़ मेरी सेक्स स्टोरीस पढ़ते है.

मैं आपके साथ साझा करना चाहता हूँ, अपनी पत्नी रोमिका की कहानी उसी की ज़ुबानी.

मस्त कहानियाँ हैं, मेरी सेक्स स्टोरी डॉट कॉम पर !!! !!

रोमिका एक बहुत ही कामुक औरत है.

उसके बूब्स एक दम रसीले आम के रस जैसे है, जो 34 सी साइज़ के है और गांड एकदम गोल दिखती है. किसी का भी लंड खड़ा हो जाए.

अब आगे की कहानी रोमिका की ज़ुबानी..

रोमिका – हेलो दोस्तों, सभी चूत और लंड वालो को रोमिका का आदाब.

शादी के बाद अमित ने मेरी सेक्स स्टोरी के बारे में बताया और तब से ही, मैं इस साइट पर कहानियाँ पढ़ती हूँ रेग्युलर्ली और फिर, मैंने यह डिसाइड किया की अपना रियल सेक्स अनुभव साझा करू, आप सब लोगो के साथ जो मुझे अपने स्कूल में हुआ था.

तो दोस्तो ज़्यादा टाइम ना लेते हुए, अपनी स्टोरी शुरू करती हूँ.

यह 11 क्लास की बात है, जब मैं सेंट्रल स्कूल के साइन्स सेक्शन में पढ़ती थी.

मैं आप लोगो को बता दूं, मेरे घर में मेरी मम्मी जो हाउसवाइफ है, पापा जो एक बड़ी कंपनी में मॅनेजर का जॉब करते है और भैया जो मार्केटिंग का जॉब करते है.

भैया की शादी हुए, 1 साल ही हुआ है.

भैया, भाभी का रूम और मेरा रूम पास पास में है.

मुझे रोज उनके रूम से रात को कुछ अजीब सी आवज़ आती थी और जब मैं कभी भाभी से पूछती तो भाभी हंस के टाल देती.

मैंने सुना तो बहुत था पर कभी “लाइव सेक्स” देखा नहीं था.

तो मैंने एक दिन की होल से देखने का प्लान बनाया और अंदर क्या देखा मेरी भाभी, भाई के ऊपर बैठ कर तेज – तेज उछल रही है, और – आह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह उम्म्म्म म मम म मम म मम उफफफ फ फफ फ फफ फ फफ फ फफ फफ्फ़ कर रही है.. आ ह्ह्ह्हा ह्ह्ह्ह्ह.. चोदो मुझे..

उनकी आवज़े बाहर तक आ रही थी.

तभी मेरा हाथ अपने आप मेरी कमसिन जवान चूत पर चला जाता है.

मैंने उस समय केवल लोवर ही पहना था, बिना पैंटी के.

मैं रात को ब्रा पैंटी नहीं पहनती, केवल टी शर्ट और लोवर ही पहनती हूँ.

अब मैं लोवर के ऊपर से ही चूत मसलने लग गयी, आहह…आहह उम्म्म्म उनको सेक्स करता देख चूत मसलने का मज़ा ही अलग था.

कुछ ही देर में मेरा सारा पानी निकल गया, तब से मुझे सेक्स का नशा सा चॅड गया, और मैं रोज उन्हे की होल से उन्हे चुदाई करते हुए देखने लगी, और अपनी चूत मसलने लगी पर इस चूत की खुजली बिना लंड के कहा मिटती है.

मैं सोचने लगी की कैसे लंड लिया जाए और मैं अपने क्लास के लड़को को सिड्यूस करने लगी.

हमारे स्कूल का ड्रेस कोड, शर्ट और स्कर्ट है.

मैं अपनी स्कर्ट को ऊपर से फोल्ड करके पहनने लगी ताकि मेरी लोंग लेग्स और थाइस और ज़यादा दिख सके.

दोस्तों मैं आपको बताना भूल गई मेरी हाइट 5.6 है, और कलर एकदम गोरा मेरी गोरी – गोरी थाइस देख के लड़को का मन मचल उठता है.

एक दिन, फ्री पीरियड्स में जब सब लोग मस्ती कर रहे थे तो मेरा क्लासमेट उसका पेन लेने के लिए नीचे झुका और उसकी नज़र मेरे लेग्स की तरफ गयी और वो मेरी गोरी चिकने लेग्स को देखने लग गया.

मैंने भी जान बुझ कर अपने पैरों को चौड़ा किया ताकि उसको मेरी पैंटी के दर्शन हो सके.

बहुत देर तक, वो ऐसे ही देखता रहा और मेरी चूत में खुजली स्टार्ट हो गई.

उसका नाम राहुल था.

अगले दिन, मैंने जान बुझ के पैंटी नहीं पहनी और जिसका मुझे यकीन था वही हुआ.

आज फिर राहुल किसी बहाने से नीचे झुका और मेरे पैरों की तरफ देखने लगा, पर मैंने पैर क्रॉस किए हुए थे और फिर मैंने अचानक से एक झटके में पैर चौड़े कर दिए.

वो एकदम शॉक्ड हो गया, और गिर गया. वो मेरी चूत को देखता रहा.

ऐसे खुले आम, मेरी चूत के दर्शन करवा कर मेरी चूत गीली हो गई.

शायद, उसने भी यह फील कर लिया था.

फिर उसने मुझे देखा और मैंने उसको.. हमारी नज़रे मिले उसने स्माइल दी और मैंने हल्की सी आँख मार दी.

कुछ दिन यह सिलसला यूही चला. वो किसी ना किसी बहाने से मुझे कही भी हाथ लगा देता. कभी मेरी गांड पर कभी कमर पर, कभी चूत पर और मैं चहक उठती.

फिर एक दिन, जिसका इंतेज़ार मुझे कई दीनो से था वो दिन आ गया.

मैं उस दिन क्लास से छुट्टी में लास्ट में निकली थी और उसने हिम्मत करके मुझे स्टेर्स में कस के पकड़ लिया.

आ अहह उसका स्पर्श और कस के चिपकना आह ह आह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह.. मेरी चूत में आग लगा दी.

मैं भी कब से इस पल का इंतेज़ार कर रही थी.

वो पागलो के तरह पूरी बॉडी पर किस करने लग गया और मेरी गांड दबाने लग गया.

आ आह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह.. उसका हर किस मुझे और मदहोश कर रहा था.

मैं भी उसका साथ देने लगी और हम लिप टू लिप किस करने लग गये.

किस करते करते वो मेरे बूब्स दबाने लग गया और स्कर्ट के अंदर, हाथ डाल के चूत सहलाने लग गया.. मैं बहुत गरम हो गई..

मैंने उसका लंड, पेंट के ऊपर से पकड़ लिया और दबाने लग गई.

उसने अचानक, एक उंगली मेरी चूत में डाल दी.

आह ह आ हह आह ह..

मेरी तो जैसे जान ही निकल गई.

मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया और राहुल ने उंगली पर लगा सारा पानी चाट लिया.

मैं राहुल को बोलने लग गई – आ जाओ राहुल, चोदो मुझे, आ ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह राहुल चोद दो मुझे.. बहुत तड़प रही हूँ, मैं..

राहुल मुझे क्लास रूम में ले गया और दरवाजा बंद कर दिया अंदर से..

मुझे बेंच पर पटक कर, मेरी स्कर्ट ऊपर की और चूत सहलाने लग गया.

इतना मज़ा मुझे कभी नहीं आया था, आज तक.

मैंने राहुल का पकड़ पकड़ कर, अपनी चूत पर रख दिया.

वो मेरी चूत चाटने लग गया..

आहह अहह.. उसका चूत चाटने का स्टाइल मुझे पागल कर रहा था.

मुझे आज तक ऐसा कभी फील नहीं हुआ था, मन कर रहा था बस चुदवाती रहु.

मैंने राहुल की ज़िप खोली और लंड बाहर निकाल लिया और मुँह में ले लिया, क्या टेस्ट था एकदम गरम कड़क नशा सा होने लगा था..

राहुल मैंरे बूबे दबाने लग गया और मेरी शर्ट के बटन झटके से तोड़ दिए और मेरी ब्रा से बूब्स निकाल के चूसने लग गया.

आहह कितना मज़ा आ रहा था.. राहुल कभी चूत चूस रहा था कभी बूब्स और मैं आहहह राहुल सक इट… पी जाओ….. चूस लो खा जाओ, चूत को आहह चूस लो सारा रस.

और मैं दूसरी बार झड़ गयी.

राहुल अब नहीं रहा जाता डाल दो लंड अंदर.. चोद दो मुझे.. बना लो, अपनी रंडी.. कबसे तड़प रही हूँ.. आ अह ह उफ फफ फफ फफ्फ़.. राहुल आ जाओ बेबी, चोदो मुझे.. और राहुल मुझे घोड़ी बना देता है.

अपने लंड पर बहुत सारा थूक लगा कर एक झटके में लंड डाल देता है चूत में.

आह ह आह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह.. मर गई.. आ अहह आह ह.. राहुल, मेरी चूत फट गयी.. इसको बाहर निकाल.. साले, कमिने फाड़ दी मेरी चूत.. आह ह आ अह ह… आह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह्ह्ह् ह्ह्ह.. उम्म्म्म म मम म मम म मम ममम..

राहुल, कुछ देर ऐसे ही रहा और फिर उसने झटके लगाना चालू किया.

चूत का दर्द, अब कम हो गया और लंड मज़े देने लगा.

राहुल चोद दे मुझे.. बना ले अपनी रंडी.. रोज चुड़वांगी तुझसे, आहह उम्म्म्म..

राहुल भी बोलने लगा – ले साली रंडी.. बहुत उकसाती है.. तो ले फाड़ दूँगा आज तेरी चूत.. साली किसिको दिखाने लायक नहीं रहेगी..

पूरी क्लास, हमारी चुदाई की आवाज़ से गूँज उठी.

मैं चिल्ला रही थी – राहुल मादर चोद.. चोद मुझे.. बहुत खुजली है इसमे.. आज मिटा दे, पूरी खुजली इसकी..

और राहुल और तेज तेज धक्का लगाने लग गया.

कुछ देर में, मैं फिर से झड़ गयी और राहुल के मुँह पर चूत रख दी राहुल सारा पानी पी गया..

फिर, राहुल ने मुझे लेटा कर टाँगे ऊपर की और चोद्ना चालू कर दिया.

मैं लगातार मौन कर रही थी – आहह आह ह उम्म्म्म म मम म मम म मम म आह ह उफफ फफ फ फफ फफफ फ फ फ फफफ्फ़ और कुछ देर बाद, हम दोनो एल साथ झड़ गये..

राहुल, मेरे ऊपर लेट गया.

कुछ देर हम ऐसे ही रहे..

अचानक, मुझे ऐसा लगा जैसे कोई हमे चुप के देख रहा था.

हमने अपने कपड़े सही किए राहुल ने मेरी पैंटी अपने पास रख ली..

मैंने राहुल के लंड को किस किया और हम क्लास से बाहर आ गये.

तो दोस्तो कैसी लगी मेरी स्टोरी अगर अच्छी लगी तो कृपया रिप्लाइ ज़रूर करें, ताकि मैं अपनी नेक्स्ट स्टोरी में बता सकु की वो कौन था जो हमे चुप के देख रहा था और उसने मुझे कैसे ब्लॅकमेल करके चोदा.

Padhte Rahiye Meri Sex Story..

Written by

मस्त कामिनी

Leave a Reply